NSG में पाकिस्तान क्यों नहीं- चीन

NSG में पाकिस्तान क्यों नहीं- चीन
Click for full image

नई दिल्ली। संवेदनशील परमाणु प्रौद्योगिकी तक पहुंच को नियंत्रित करने वाले परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) की सदस्यता के मुद्दे पर भारत को गुरुवार को मेक्सिको का समर्थन मिला, लेकिन विएना में 48 देशों के इस समूह की बैठक में चीन ने भारत की दावेदारी का विरोध जारी रखा। भारत के आवेदन पर विचार करने के लिए एनएसजी की दो दिवसीय बैठक गुरुवार को ऑस्ट्रिया की राजधानी विएना में शुरू हुई और राजनयिक सूत्रों ने कहा कि ज्यादातर देश भारत की दावेदारी के प्रति सकारात्मक नजर आए।

सूत्रों ने कहा, यह सतत प्रक्रिया है लेकिन ज्यादातर देश सकारात्मक नजर आए। अमेरिका भारत को एनएसजी की सदस्यता के मुद्दे पर पुरजोर समर्थन दे रहा है। बहरहाल, विएना से आई खबरों में कहा गया कि चीन भारत की सदस्यता का विरोध करने वाले देशों की अगुवाई कर रहा है। बताया जाता है कि तुर्की, न्यूजीलैंड, आयरलैंड, दक्षिण अफ्रीका और ऑस्टि्रया चीनी रूख का समर्थन कर रहे हैं। इससे पहले, दिन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एनएसजी सदस्यता के मुद्दे पर मेक्सिको का समर्थन हासिल हुआ। अपने अमेरिका दौरे के बाद मोदी मेक्सिको की यात्रा पर गए थे।

Top Stories