Thursday , September 20 2018

डेनमार्क में तेजी से बढ़ रहे हैं ऑनलाइन तलाक के मामले

डेनमार्क का प्रशासन डिजिटली स्ट्रांग है। यहां तक कि तलाक का आवेदन भी ऑनलाइन किया जाता है और चौंकाने वाली बात यह है कि आवेदन किए जाने के एक हफ्ते से कम समय में तलाक मिल भी जाता है।

वहीं इसके लिए सिर्फ 60 डॉलर जमा करने होते हैं। लेकिन इस आसान ऑनलाइन प्रक्रिया का नुकसान देखते हुए लोगों की शादियां बहुत तेजी से टूटने लगीं। पति-पत्नी छोटे-मोटे झगड़ों पर भी एक दूसरे को तलाक लेने लगे हैं और इसका असर बच्चों पर भी देखने को मिला।

वहीं कई मामलों में पति-पत्नी दोनों ही बच्चों को साथ रखने से मना कर देते हैं। 2017 में यहां तलाक की दर करीब 46.75 फीसदी रही। ऐसे में सरकार तलाक लेने के नियमों को सख्त कर दिया है।

नए नियम के तहत जिन दंपती के बच्चे हैं, उन्हें अपनी शादी को बनाए रखने के लिए तीन महीने का समय दिया जाएगा। देश के बच्चों और सामाजिक मामले के मंत्री मेई मर्केडो का कहना है कि मौजूदा नियम के तहत माता-पिता तलाक लेते समय अपने बच्चों की व्यवस्था के लिए काफी कम समय में ही फैसला लेते थे।

TOPPOPULARRECENT