हज पर जाने के लिए अॉनलाईन आवेदन जारी, समुन्द्र के रास्ते भी सफर मुमकिन!

हज पर जाने के लिए अॉनलाईन आवेदन जारी, समुन्द्र के रास्ते भी सफर मुमकिन!

अल्लाह के दरबार में हाजिरी लगाने की तमन्ना रखने वाले गुरुवार से हज यात्रा के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। हज कमेटी ऑफ इंडिया ने हज एक्शन प्लान 2019 जारी कर दिया है। आवेदन की अंतिम तिथि 17 नवंबर है। हज कमेटी की वेबसाइट \Rhajcommittee.gov.in पर फॉर्म का प्रारूप अपलोड कर दिया गया है। इस बार आवेदकों को हज यात्रा के फॉर्म व हज गाइड ऑनलाइन डाउनलोड करनी होगी।

हज एक्शन प्लान 2019 के मुताबिक 17 नवंबर 2018 तक बने पासपोर्ट धारक ही आवेदन कर सकेंगे, जिनकी वैधता 31 जनवरी 2020 तक होनी आवश्यक है। जबकि, 22 अक्टूबर से स्टेट हज कमेटी कार्यालय में ऑफलाइन फार्म जमा किया जा सकेगा। पिछली बार की तरह इस बार भी महिलाओं को बिना महरम के हज यात्रा पर भेजा जाएगा। बिना महरम के हज जाने वाली महिलाएं चार-चार के ग्रुप आवेदन कर सकती हैं।

आवेदन की अंतिम तिथि के बाद अगर आवेदकों की संख्या निर्धारित कोटे से अधिक हुई, तो दिसंबर माह के अंतिम सप्ताह में ऑनलाइन लॉटरी निकालकर हज यात्रा 2019 के लिए आवेदकों का चयन किया जाएगा। हज यात्रा के लिए चयनित होने के बाद आवेदकों को हज के कुल खर्च की पहली किस्त के तौर पर 81 हजार रुपये (अनुमानित) दिसंबर तक हज कमेटी के बैंक खाते में जमा कराने होंगे। साथ ही दूसरी और आखिरी किस्त जनवरी 2019 के पहले सप्ताह में जमा करनी होगी।

हालांकि, हज यात्रा 2019 के कुल खर्च की घोषणा बाद में होगी। राजधानी से हज यात्रा की रवानगी का सिलसिला एक जुलाई से शुरू होगा, अंतिम उड़ान तीन अगस्त को रवाना होगी। वर्ष 2019 में दस अगस्त को हज होगा। हज उड़ानों की वापसी 14 अगस्त से शुरू हो जाएगी।

एक्शन प्लान जारी करने के साथ हज कमेटी ऑफ इंडिया ने हज यात्रा 2019 की तैयारियों को लेकर स्टेट हज कमेटी को दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। इस बार हज यात्रा के फॉर्म में भरे आरोहण स्थल(एंबारकेशन प्वाइंट), ठहरने की श्रेणी (ग्रीन व अजीजिया) और कुर्बानी कूपन आदि किसी भी चुने विकल्प में कोई बदलाव नहीं किया जा सकेगा।

दिसंबर 2018 में बिल्डिंग सेलेक्शन टीम व बिल्डिंग सेलेक्शन कमेटियां हज यात्रियों के मक्का मदीना में ठहरने के लिए विदेश मंत्रालय, हज कमेटी ऑफ इंडिया व काउंसलेट जनरल ऑफ इंडिया के साथ होटलों व भजनों का चयन करने के लिए रवाना होगी।

साथ ही चयनित यात्रियों को हज अरकान की ट्रेनिंग देने वाले मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस साल सबसे बड़ी बात ये होगी कि आप चाहें तो पानी के जहाज के जरिए भी हज पर सफर कर सकेंगे।

Top Stories