Sunday , July 22 2018

इस साल सिर्फ 35 दिनों के अंदर ही 12 जवान देश की हिफाजत के दौरान हुए शहीद

नई दिल्ली: रविवार को जम्मू-कश्मीर के राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा पर हुए गोलाबारी में राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम के कैप्टन कपिल कुंडू सहित तीन जवान शहीद हो गए, जबकि चार अन्य घायल हो गए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, सैन्य अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी रेंजर्स ने रविवार शाम को संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए राजौरी के भीमबेर गली सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास भारी गोलाबारी और बमबारी की। जिसमे सैन्य अधिकारी कुंडू, ग्वालियर निवासी राइफलमैन राम अवतार, कठुआ के शुभम सिंह और सांबा के हवलदार रोशन लाल शहीद हो गए।

वहीँ एबीपी न्यूज़ के आंकड़े के मुताबिक, इस साल सिर्फ 35 दिनों के अंदर ही 12 जवान देश की हिफाजत करते हुए शहीद हो गए हैं।

एबीपी न्यूज़ के द्वारा जारी किया आकड़ा इस प्रकार है:

3 जनवरी- सांबा सेक्टर में बीएसएफ के डेड कांस्टबेल आप पी हाजरा शहीद हुए।
13 जनवरी- सुन्दरबनी सेक्टर में आर्मी के लांस नायक योगेश भड़ाने ने शहादत दी।
17 जनवरी- आरएस पुरा सेक्टर में बीएसएफ के हेड कांस्टेबल ए सुरेश शहीद हुए।
19 जनवरी- सुन्दरबनी सेक्टर में आर्मी के लांस नायक सैम अब्राहम शहीद हुए।

19 जनवरी- इसी दिन सांबा सेक्टर में बीएसएफ के हेड कांस्टेबल जगपाल सिंह शहीद।
20 जनवरी- कृष्णा घाटी सेक्टर में सेना के सिपाही मनदीप सिंह शहीद।
21 जनवरी- मेंढर सेक्टर में सेना के सिपाही चंदन कुमार राय शहीद।

24 जनवरी- कृष्णा घाटी सेक्टर में सेना के सिपाही नायक जगदीश शहीद।
4 फरवरी- भिंबर गली सेक्टर में सेना के कैप्टन कपिल कूंडू शहीद।
4 फरवरी- भिंबर गली सेक्टर में सेना के हवलदार रोशन लाल शहीद।
4 फरवरी- भिंबर गली सेक्टर में सेना के राइफलमैन रामअवतार शहीद।
4 फरवरी- भिंबर गली सेक्टर में सेना के राइफलमैन शुभम सिंह शहीद।

TOPPOPULARRECENT