CAA-NRC पर नसीरुद्दीन शाह ने कहा- मैं किसी से नहीं डरता लेकिन..?

CAA-NRC पर नसीरुद्दीन शाह ने कहा- मैं किसी से नहीं डरता लेकिन..?

सीएए को लेकर देशभर में हो रहे विरोध और समर्थन में प्रदर्शन के बीच फिल्म अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने बयान देकर सियासी गर्मी को और बढ़ा दिया है

 

न्यूज़रुमपोस्ट डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार नसीरुद्दीन शाह लगातार किसी भी मामले पर मुखर होकर बयानबाजी करते रहते हैं। वैसे ही बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर भी अपनी बयानबाजी के लिए जाने जाते हैं।

 

 

इस बार बयानों की तलवार इन दोनों के बीच खींच गई है। वहीं नसीरुद्दीन शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर भी टिप्पणी कर दी है। जिसके बाद से उनकी आलोचना होनी शुरू हो गई है।

 

आपको याद होगा कि नसीरुद्दीन शाह ने नरेंद्र मोदी 1.0 सरकार के समय यह कहकर बवाल मचा दिया था कि उन्हें भारत में रहने में डर लगता है। उस समय भी उनकी जमकर आलोचना हुई थी।

 

सीएए-एनआरसी के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शनों के बीच बॉलीवुड के भी कई सितारों ने भी अपना प्रोटेस्ट दर्ज कराया है। अनुराग कश्यप, तापसी पन्नू, स्वरा भास्कर, ऋचा चड्ढा, अली फजल, फरहान अख्तर जैसे सितारों ने सोशल मीडिया से सड़क तक इस कानून का विरोध किया है।

 

सुपरस्टार दीपिका ने भी जेएनयू के लेफ्ट विचारधारा के स्टूडेंट्स के साथ जेएनयू पहुंचकर साइलेंट प्रोटेस्ट किया था। अब इस मामले में अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने भी अपनी राय रखी है।

 

एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में नसीरुद्दीन शाह ने सीएए-एनआरसी पर कहा कि ‘अगर भारत में 70 साल रहने के बावजूद ये साबित नहीं किया जा सकता है कि मैं इस देश का नागरिक हूं तो मुझे नहीं पता फिर किससे ये साबित होगा।

 

मौजूदा दौर की बात करूं तो मैं ये कहना चाहता हूं कि मैं किसी से डरता नहीं हूं, ना ही मैं बैचेन हूं लेकिन मैं बेहद गुस्सा हूं।’

 

पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ‘वे खुद कभी स्टूडेंट नहीं रहे हैं, यही कारण है कि पीएम मोदी छात्रों और बुद्धिजीवियों के प्रति बेहद असंवेदनशील रवैया अपना रहे हैं।’

 

उन्होंने कहा कि ‘मैं ट्विटर पर नहीं हूं। ये लोग जो ट्विटर पर हैं, मैं उम्मीद करता हूं कि ये अपना मन बना चुके हैं कि वे किस चीज में विश्वास करते हैं। अनुपम खेर इस मामले में काफी मुखर रहे हैं। लेकिन मुझे नहीं लगता कि उन्हें गंभीरता से लेने की जरुरत है।

वो एक जोकर हैं, एनएसडी, एनएफटीआईआई के दौर के उनके कई समकालीन लोग उनके साइकोपैथ नेचर के बारे में बता सकते हैं, ये उनके खून में है।

लेकिन बाकी लोग जो इनका समर्थन कर रहे हैं उन्हें फैसला करना चाहिए कि आखिर वे किसका सपोर्ट कर रहे हैं। उन्हें हमें हमारी जिम्मेदारी बताने की जरुरत नहीं है, हम जानते हैं कि हमारी जिम्मेदारियां क्या हैं।’

 

दीपिका का समर्थन करते हुए नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि दीपिका के लिए भी खोने के लिए काफी कुछ था लेकिन इसके बावजूद उन्होंने रिस्क लिया और स्टूडेंट्स के साथ हुई हिंसा के खिलाफ समर्थन में खड़ी हुईं।’

 

साभार- न्यूज़रुमपोस्ट डॉट कॉम

Top Stories