योगेंद्र यादव ने प्रधानमंत्री मोदी को एसएससी की परीक्षा में घोटाले को लेकर लिखा खुला खत

योगेंद्र यादव ने प्रधानमंत्री मोदी को एसएससी की परीक्षा में घोटाले को लेकर लिखा खुला खत

स्वराज इंडिया पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने एसएससी (कर्मचारी चयन आयोग) परीक्षा में घोटाले को लेकर प्रधानमंत्री को खुला खत लिखकर सीबीआई जांच की मांग की है। योगेंद्र यादव ने पत्र में कहा कि मुझे यह लिखते हुए बुरा लग रहा है कि देशभर के छात्र व छात्राएं देश की राजधानी दिल्ली में एसएससी एग्जाम में हुई गड़बड़ी को लेकर सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं।

योगेंद्र यादव ने प्रधानमंत्री से अपील करते हुए लिखा कि आपको इस मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए। आपको युवाओं के मन की बात सुननी चाहिए। वह युवा जो कि देशभर से आकर यहां विरोध कर रह है वह पूरे मामले की सीबीआई जांच कराना चाहते है। उनके पास जो प्रूफ है वह जांच को आगे बढ़ाने के लिए काफी है। ऐसे में आपको छात्रों की इस मांग पर ध्यान देकर पूरे मामले की सीबीआई जांच करानी चाहिए। मेरिट के आधार पर युवाओं को मौका मिलना चाहिए।

महोदय, साफ़ है कि कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में फिक्सिंग होतीं है जिससे उम्मीदवारों की योग्यता के साथ समझौता किया जा सकता है। लगभग हर राज्य का व्योपम स्वयं का है और पीड़ित युवा लड़के और लड़कियां हैं, जो कड़ी मेहनत के काम करने के बाद सिस्टम में कुछ बेईमानी से बाहर निकल जाते हैं।

क्या मैं सिर्फ आपको देश के राष्ट्रीय राजधानी के केंद्र में सीजीओ परिसर में चल रहे विरोध के बारे में लिख रहा हूं? जाहिर है हाँ लेकिन एक बड़े संदर्भ में, मैं देश के हर जगह और कोने में चल रही धोखाधड़ी के बारे में भी बात कर रहा हूं।

विशेष रूप से आपके चुनाव अभियान भारतीय युवाओं के रोजगार के मुद्दों पर केंद्रित रहे हैं। युवाओं ने आप में विश्वास करते हुए आपको एक शानदार जीत मिली लेकिन अब जब युवा आपको हस्तक्षेप करने के लिए कह रहे हैं तो आप गायब हैं, यही मुझे दर्द है मोदी जी।

दिल्ली में विरोध करने वाले युवाओं से मुलाकात के दौरान जो भी देखा, मैं उसको भी साझा करना चाहूंगा। वे फुटपाथ पर रजाई में सो रहे थे, जैसे कि वे प्रवासी मजदूर हों। उनके पास पर्याप्त खाना नहीं था। मैं आग्रह करता हूं कि आप प्रदर्शनकारियों को बुनियादी रसद उपलब्ध कराएं।

मैं आपसे आग्रह करता हूं कि चल रहे इस गतिरोध में हस्तक्षेप करें। कृपया एक बार युवाओं के ‘मन की बात; को सुनें। ये सभी युवा लड़के और लड़कियां पूछ रहे हैं कि इसकी निष्पक्ष सीबीआई जांच हो। मैं आपसे एक अनुकूल प्रतिक्रिया की उम्मीद कर रहा हूं।

सादर

योगेंद्र यादव

Top Stories