महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी होंगे उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष के उम्मीदवार, 18 दलों का समर्थन

महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी होंगे उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष के उम्मीदवार, 18 दलों का समर्थन
Click for full image

विपक्ष ने गोपाल कृष्ण गांधी को उप राष्ट्रपति पद के लिए अपना उम्मीदवार चुना है। गोपाल कृष्ण गांधी महात्मा गांधी के पोते हैं । मंगलवार को 18 विपक्षी पार्टी ने इसके लिए बैठक की थी जिसमें ये फैसला लिया गया ।

बैठक में जनता दल युनाइटेड के नेता भी शामिल थे । हालांकि जेडीयू राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के साथ है । मीटिंग में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, टीएमसी के डेरेक ओब्राइन, सीपीआईएम से सीताराम येचुरी, सपा के नरेश अग्रवाल, नेशनल कॉन्फ्रेंस से उमर अब्दुला, बसपा से सतीश चंद्र मिश्रा और आरएलडी के अजीत सिंह शामिल थे।

मीटिंग की शुरुआत में जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के दौरान मारे गए सात श्रद्धालुओं के लिए दो मिनट का मौन भी रखा गया था।

गोपाल कृष्ण गांधी का जन्म 22 अप्रैल 1945 को हुआ था। उनके पिता का नाम देवदास गांधी और मां का नाम लक्ष्मी था। गोपाल कृष्ण गांधी ने सेंट स्टीफेंस कॉलेज से इंग्लिश लिट्रेचर में मास्टर्स की पढ़ाई की।

वहीं गोपाल कृष्ण गांधी कई सरकारी पदों पर भी रह चुके हैं। 1968 से 1992 तक वह भारतीय प्रशासनिक सेवा में रहे। 1985 से 1987 तक वह उप-राष्ट्रपति के सचिव पद पर भी रहे। इसके बाद साल 1987 से 1992 तक वह राष्ट्रपति के संयुक्त सचिव भी रहे और 1997 में राष्ट्रपति के सचिव भी बने।

महात्‍मा गांधी के सबसे छोटे पौत्र गोपाल गांधी की पारिवारिक जड़ें गुजरात में हैं. इस लिहाज से विपक्ष का मानना है कि उनके उम्‍मीदवार बनने से पीएम मोदी के लिए भी राजनीतिक स्थिति सहज नहीं होगी. संभवत: इन्‍हीं वजहों से नीतीश-लालू से लेकर सपा और बसपा को उनकी उम्‍मीदवारी सूट करती है. कांग्रेस से भी गोपाल गांधी के अच्‍छे रिश्‍ते हैं

 

 

Top Stories