Monday , April 23 2018

मुसलमानों की शिक्षा के बारे में सोचना हमारी ज़िम्मेदारी, हमें कोई हिदायत न दे: ममता

कोलकाता। इस तर्क के साथ कि राज्य के मुख्यमंत्री होने के नाते अल्पसंख्यकों और उनके कल्याण और शैक्षिक और सामाजिक विकास के लिए सोचना हमारी जिम्मेदारी है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र या कोई भी नेता इस पर कोई हिदायत न दे, मैं राज्य के हर वर्ग और सुमदाय से संबंधित समान्य चिंतित हूं। बंगाल में 31% अल्पसंख्यक की जनसंख्या है, उन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

पश्चिम बंगाल अल्पसंख्यक और वित्तीय निगम के वार्षिक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना की और कहा कि केंद्रीय योजनाओं के लिए अबतक फंड नहीं मिला है और इसके बावजूद सभी योजनाएं बंगाल में चल रही हैं।

ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक वर्ग के छात्रों के छात्रवृत्तियों के लिए फंड देना बंद कर दिया है। इसके बावजूद हम अल्पसंख्यक छात्रों को छात्रवृत्तियां दे रहे हैं।

ममता बनर्जी ने कहा कि अल्पसंख्यक छात्रों को शिक्षा से वंचित नहीं किया जा सकता है। शिक्षा पर उनका उतना ही अधिकार है जितना की अन्य वर्गों का है।

TOPPOPULARRECENT