मक्का मस्जिद और मालेगांव ब्लास्ट में जो मरे, उनको इंसाफ कब मिलेगा?- ओवैसी

मक्का मस्जिद और मालेगांव ब्लास्ट में जो मरे, उनको इंसाफ कब मिलेगा?- ओवैसी

लोकसभा में सोमवार को एनआईए संशोधन विधेयक पर चर्चा हुई। इस बिल को लेकर एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार पर जमकर निशाना साधा। ओवैसी ने कहा कि सबसे पहली आपत्ति यह है कि एनआईए अगर विदेश जाती है तो वहां किस कानून के तहत काम करेगी।

उन्होंने पूछा कि जो मक्का मस्जिद में मरे, जो मालेगांव ब्लास्ट में मरे उनको इंसाफ कब तक मिलेगा। आखिर क्यों सरकार अपील नहीं करती। ओवैसी यहीं नहीं रुके, सरकार पर वार करते हुए उन्होंने कहा, “वो कहना चाहते हैं कि जो उनकी बात नहीं मानेगा वह राष्ट्रदोही होगा। मैं इससे खारिज करता हूं।”

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, ओवैसी ने आगे कहा कि संसद का कानून कहता है कि आप किसी सांसद की ओर उंगली उठा कर बात नहीं कर सकते। वह (अमित शाह) डराने की कोशिश ना करें कोई डरने वाला नहीं है।

आपक बता दें कि लोकसभा में सोमवार को एनआईए संशोधन विधेयक पर चर्चा के दौरान गृह मंत्री अमित शाह और एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी के बीच नोकझोंक देखने को मिली।

ओवैसी ने कहा कि आप गृह मंत्री हैं तो डराइए मत, जिस पर शाह ने कहा कि वह डरा नहीं रहे हैं, लेकिन अगर डर जेहन में है तो क्या किया जा सकता है।

Top Stories