हैदराबाद- कांग्रेस का AIMIM से गठबंधन तोड़ने का फैसला

हैदराबाद- कांग्रेस का AIMIM से गठबंधन तोड़ने का फैसला

हैदराबाद। कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में अपनी पुरानी सहयोगी पार्टी मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) से गठबंधन तोड़ने का फैसला लिया है। तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष एन. उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने पुराने शहर सहित अन्य सभी जगहों पर एआईएमआईएम के खिलाफ प्रत्याशी उतारने का फैसला किया है।

सूत्रों के अनुसार राहुल इस बात से नाराज हैं कि एमआईएम कई राज्यों में कांग्रेस के खिलाफ चुनाव लड़ कर अल्पसंख्यक और अन्य वर्गों के वोटों में सेंधमारी कर रही है। हालांकि कांग्रेस पहले भी एमआईएम के खिलाफ प्रत्याशी उतारती रही है, लेकिन यह कथित तौर पर ‘चुनावी दोस्ती’ के तौर पर किया जाता था।

दोनों ही पार्टियों के बीच यह समझौता होता था कि कांग्रेस, एमआईएम को अप्रत्यक्ष तरीके से चुनाव जिताने के लिए भाजपा, टीडीपी और टीआरएस के हिंदू वोटों में सेंधमारी करेगी। लेकिन एमआईएम कभी कांग्रेस को श्रेय ना देकर जीत अपने ही दम पर हासिल करने का ऐलान करती रही। अब कांग्रेस ने एमआईएम की इस ‘धोखेबाजी’ से नाराज होकर पंचायत चुनावों से लेकर 2018-19 की चुनावी जंग को अकेले दम पर ही लड़ने का निर्णय लिया है।

Top Stories