बलात्कार के घटनाओं के खिलाफ सिविल सोसाइटी के लोगों ने राष्ट्रीय स्तर पर विरोध प्रदर्शन किया

बलात्कार के घटनाओं के खिलाफ सिविल सोसाइटी के लोगों ने राष्ट्रीय स्तर पर विरोध प्रदर्शन किया

नई दिल्ली: कठुआ और उन्नाव में गैंगरेप के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली, बेंगलोर, मुंबई, चंडीगढ़ और अजमेर सहित पूरे देश विरोध प्रदर्शन किया गया। गौरतलब है कि कठुआ के रसाना गाँव की रहने वाली आठ वर्षीय मासूम बच्ची को दस जनवरी को उस समय अगवा किया गया था जब वह घोड़ों को चराने के लिए पास के जंगल गई हुई थी।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उसकी लाश 17 जनवरी को हीरा नगर में झाड़ियों से बरामद की गई थी। संबंध कश्मीर में चरवाहों के परिवार से था। उसकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक एक सप्ताह नशावर दवाई दी गई और सामूहिक बलात्कार का निशाना बनाया जाता रहा। फिर एक सप्ताह बाद उसे पत्थर मारकर हत्या कर दी गई।

इस घटना के सुर्ख़ियों में आने के बाद भारत में सामाजिक कार्यकर्ता और मानवधिकार के लिए काम करने वाली संगठनें लगातार प्रदर्शन कर रही हैं। साथ ही इन दोनों घटनाओं के खिलाफ सिविल सोसाइटी के कार्यकर्ताओं ने देशभर में विरोध प्रदर्शन किया। सूचना के मुताबिक मुंबई के सेंट्रल रोड पर बड़ी संख्या में जनता सड़कों पर उतरे और उन्होंने इन दोनों घटनाओं के खिलाफ अपना गुस्सा ज़ाहिर किया।

Top Stories