Saturday , May 26 2018

गुजरात दंगों में इस्तेमाल हुए ‘मेड इन इजराइल’ फास्फोरस के पैकेट कैसे पहुंचे सहारनपुर दंगों तक ?

सहारनपुर में हुए पिछले दंगे के बाद नेशनल दस्तक की एक वीडियो रिपोर्ट देखी थी जिसमें कुछ दलित महिलाओं के इन्टरव्यू थे, एक ग्रामीण महिला बता रही थी कि दंगाइयों के हाथों में छोटे छोटे पाउच थे जिन्हें वो मुंह से काटकर फाड़ते और घरों में सामानों पर फेंक देते, जिसमें फौरन ही आग लग जाती थी,

यह लगभग बारह मिनट की वीडियो थी जिसमें उस महिला की बात सिर्फ दस सैकंड की थी लेकिन मेरा माथा खटक गया था उसकी बात पर, इसलिए मैंने आठ दस बार वीडियो रिवर्स करके उसकी बात सुनी, भाषा चूंकि ग्रामीण थी इसलिए शायद किसी ने उस महिला की बात पर ग़ौर नहीं किया लेकिन यह अगर सच है तो बेहद गंभीर विषय है इसकी जांच अलग नज़रिए से होनी चाहिए क्योंकि मामला गहरी साज़िश का नज़र आ रहा है..!!

याद रहे.. गुजरात दंगों में ऐसे ही फासफोरस पाउच का इस्तेमाल बड़े पैमाने पर हुआ था जो मेड इन इजरायल थे, आखिर वो पाउच पब्लिक में किसने डिस्ट्रबियूट किये..?
या अगर सहारनपुर में भी वही पाउच इस्तेमाल हुए हैं तो किसने पंहुचाये दंगाइयों तक..?

साभार: तीसरी जंग

TOPPOPULARRECENT