PHOTOS: सहाबा-ए-किराम युद्ध में घायलों की इलाज के लिए इस पौधे का इस्तेमाल करते थे

PHOTOS: सहाबा-ए-किराम युद्ध में घायलों की इलाज के लिए इस पौधे का इस्तेमाल करते थे

“अलबशाम” एक अनोखी प्रकृति का एक छोटा सा पौधा है, जिसकी महक खुशबूदार होती है और उसकी ऊंचाई चार मीटर तक होती है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

यह मक्का मुकर्रमा और मदीना के बीच एक प्रसिद्ध पौधा है। सहबा ए किराम (रज़ि) इस पौधे को युद्ध में घायल लोगों के इलाज करने के लिए इस्तेमाल करते थे। इसकी टहनियों से प्राप्त होने वाला गोंद घावों के इलाज के लिए सर्वश्रेष्ठ एंटीबायोटिक दवाओं का काम करता है। युद्धों से पहले इसकी गोंद बड़ी मात्रा में एकत्र की जाती थी ताकि जब ज़रूरत हो तब घायल लोगों को तत्काल उपलब्ध हो सके।

अल अरबिया के अनुसार इस पौधे को लगाने वाले माहिर अहमद असाफ ने बताया कि अलबशाम पौधा तहामा(अरब सागर के तटीय क्षेत्र) और पहाड़ी क्षेत्रों में होता है। अलबशाम के कृषि की कमी के कारण इस पौधे की कमी का सामना है। इसके अलावा रेस्टोरेंट में यह पौधा गोश्त में सुगंध और रंग देने के काम आता है। आमिरी के अनुसार अगर पहाड़ों से उसकी टहनियों को लेकर दोबारा लगाया जाए तो उसकी कृषि को बढ़ाया जा सकता है।

Top Stories