यूपी- सरकारी स्कूल में “लब पे आती है दुआ बनके तमन्ना मेरी’ प्रार्थना कराने पर हेडमास्टर सस्पेंड

यूपी- सरकारी स्कूल में “लब पे आती है दुआ बनके तमन्ना मेरी’ प्रार्थना कराने पर हेडमास्टर सस्पेंड

यूपी के पीलीभीत के जिला प्रशासन ने एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के हेडमास्टर को सिर्फ इसलिए बर्खास्त कर दिया क्योंकि उसने  स्कूल में इकबाल की लिखी प्रार्थना ‘लब पे आती है दुआ बनके तमन्ना मेरी’ कराई थी। आम तौर पर यह प्रार्थना मदरसों में कराई जाती है। इसे 1902 में मोहम्मद इकबाल ने लिखा था जिन्हें अल्लामा इकबाल के नाम से भी जाना जाता है। इन्होंने ही सारे जहां से अच्छा… भी लिखा है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक बीसलपुर के खंड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) उपेंद्र कुमार ने जांच के बाद हेडमास्टर फुरकान अली को सस्पेंड कर दिया। पीलीभीत जिले के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने बताया कि हेडमास्टर इसलिए सस्पेंड किया गया है क्योंकि वो राष्ट्रगान की बजाए छात्रों से धार्मिक प्रार्थना करवाता था। हालांकि इन आरोपों से इनकार करते हुए फुरकान अली का कहना है कि स्कूल में रोजाना राष्ट्रगान गाया जाता है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक बीसलपुर के बेसिक शिक्षा अधिकारी देवेंद्र स्वरूप ने कहा कि स्कूल में राष्ट्रगान गाया जाता था। वो मुद्दा नहीं है। शिकायत मदरसे में गाई जाने वाली प्रार्थना को लेकर है ना कि राष्ट्रगान को लेकर।

बर्खास्त हेडमास्टर फुरकान अली ने कहा कि इकबाल की कविता उर्दू की कक्षा 1 से 8 के सिलेबस में हैं। वीएचपी और हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने स्कूल और कलेक्ट्रेट के बाहर मेरी बर्खास्तगी की मांग की। मैंने सिर्फ एक कविता पढ़ी जो सरकारी स्कूलों के सिलेबस में है। मेरे छात्र रोजाना ‘भारत माता की जय’ जैसे देशभक्ति के नारे भी लगाते हैं।

सोमवार को जारी आदेश के मुताबिक बीएसए देवेंद्र स्वरूप ने कहा, ‘सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के जरिए हमें पता चला कि गयासपुर के प्राइमरी स्कूल में कोई और प्रार्थना गाई जा रही है। शुरुआती जांच में इसके लिए स्कूल हेडमास्टर फुरकान अली जिम्मेदार पाए गए और इसलिए उन्हें सस्पेंड कर दिया गया…।’

Top Stories