Saturday , November 18 2017
Home / Khaas Khabar / एक ऐसी जगह जहां रामायण उर्दू में पढ़ी जाती है, जिसे मौलवी हुसैन ने लिखा है

एक ऐसी जगह जहां रामायण उर्दू में पढ़ी जाती है, जिसे मौलवी हुसैन ने लिखा है

दीवाली हिन्दुओं का पवित्र त्योहार है, जिसमें देवी देवताओं की पूजा के साथ पवित्र पुस्तक रामायण भी पढ़ी जाती है। लेकिन राजस्थान में एक जगह एसी है, जहां रामायण के महत्वपूर्ण घटनाएं उर्दू शायरी में बयान किए जाते हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

राजस्थान राज्य के शहर बीकानेर में रामायण उर्दू में पढ़ी जाती है। यह रामायण 1935 में मौलवी बादशाह हुसैन राणा लखनवी ने लिखी थी। उस समय उन्हें बहुत प्रशंसा मिली थी, और स्थानीय राजा ने उसे पुरस्कार भी दिया था। राज्य के पर्यटन विभाग और जिम्नास्टिक ने संयुक्त रूप से दिवाली के अवसर पर इस रामायण को पेश करने के लिए विशेष व्यवस्था किया जाता है।

डीडब्ल्यू के अनुसार उसके प्रबन्धक डॉक्टर ज़ियाउल हक़ कादरी ने बताया कि दीवाली रामचंद्र के चौदह वर्ष के वनवास की वापसी पर खुशी में मनाई जाती है। इस उर्दू रामायण में इन्हीं दृश्यों को पेश किया गया है। ” यह तुलसी दास जी का ‘राम चरित्र मानस’ का अंत है, इस में सीता के अपहरण करने, रावण के साथ जंग और फिर वनवास की वापसी तक के तमाम घटनाओं का उल्लेख किया गया है। “

TOPPOPULARRECENT