Monday , July 23 2018

मध्य प्रदेश के मदरसों में पढ़ाई जाएगी PM मोदी और RSS से जुड़े लोगों की जीवनी

मध्य प्रदेश के मदरसों में अब राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े लोगों के बारे में पढ़ाया जाएगा। मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड ने वतनपरस्ती विषय पर एक अलग पाठ्यक्रम तैयार करने का फैसला किया जिसमें आरएसएस के लोगों के बारे में पढ़ाया जाएगा। राज्य के कुछ मुस्लिम संगठनों बोर्ड के इस फैसले पर बेहद नराजगी जताई है।

हालांकि, मध्यप्रदेश मदरसा बोर्ड के अध्यक्ष सैयद इमादुद्दीन ने इस फैसले को सही ठहराया है। उन्होंने कहा है कि वतन से मोहब्बत ईमान की निशानी है। यह जरूरी है कि बच्चों को देशप्रेम का पाठ पढ़ाया जाए। यही वजह है कि इस्लामिक स्कॉलर यह पाठ्यक्रम तैयार कर रहे हैं।

वहीं दूसरी तरफ मुस्लिम संगठनों का कहना है कि बोर्ड के इस फैसले से ऐसा लगता है कि मुसलमान बच्चे देशभक्त नहीं होते इसलिए देशप्रेम का पाठ पढ़ाने की बात की जा रही है।

मुस्लिम संगठनों का कहना है कि अगर यह पाठ्यक्रम हर शिक्षा संस्थान में पढ़ाया जाए तो वो उसका स्वागत करेंगे, लेकिन उनका विरोध सिर्फ मदरसों में पढ़ाने को लेकर है।

ख़बर के मुताबिक, मदरसा बोर्ड जो पाठ्यक्रम तैयार कर रहा है उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, जनसंघ के संस्थापक दीनदयाल उपाध्याय, भारत के प्रथम केन्द्रीय शिक्षा मंत्री मौलाना अबुल कलाम आजाद, पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जीवनियां पढ़ाई जाएंगी।

मदरसा बोर्ड के इस फैसले का भाजपा ने सराहना की है। भाजपा के प्रवक्ता दीपक विजयवर्गीय ने कहा, ‘इसका स्वागत किया जाना चाहिए। हर जगह की अलग-अलग कमेटियां होती हैं जो निर्णय लेती हैं कि क्या पढ़ाया जाए। मदरसा बोर्ड की कमेटी ने अगर यह फैसला किया है तो अच्छी बात है।’

TOPPOPULARRECENT