पाकिस्तान-चीन की बात करने वाले मोदी जी गुजरात की बात कब करेंगे?- राहुल गांधी

पाकिस्तान-चीन की बात करने वाले मोदी जी गुजरात की बात कब करेंगे?- राहुल गांधी

कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वह गुजरात चुनावों में पाकिस्तान, चीन, अफगानिस्तान और जापान की बात कर रहे हैं, लेकिन अपने गृह राज्य के बारे में नहीं बोल रहे हैं. राहुल ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी पर ‘चुप्पी’ साधने के लिए भी मोदी पर सवाल उठाए

राहुल गांधी ने कहा कि मोदी गुजरात में अपने प्रचार का मुद्दा लगातार बदल रहे हैं. उन्होंने कहा कि पहले नर्मदा के पानी पर बात की गई लेकिन जब किसानों ने कहना शुरू किया कि उनके खेतों तक पानी पहुंचा ही नहीं तो मोदी ने पटरी बदल दी और ओबीसी मुद्दों पर बोलने लगे. जब लोगों ने उसे भी पसंद नहीं किया तो वह विकास के मुद्दों पर चले गए लेकिन ‘लोगों ने इसकी भी हवा निकाल दी.’

बनासकांठा जिले में राहुल ने कहा, ‘‘अब मोदी जी अफगानिस्तान, चीन, पाकिस्तान और जापान की बात करते हैं. मोदी जी, यह चुनाव गुजरात के भविष्य को लेकर है. कृपया गुजरात के बारे में भी कुछ बोलिए.’’ राहुल का इशारा साफ तौर पर प्रधानमंत्री के उस बयान की तरफ था, जिसमें उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान गुजरात विधानसभा चुनावों को प्रभावित करने का प्रयास कर रहा है और मणिशंकर अय्यर के ‘नीच’ वाले बयान से एक दिन पहले अय्यर के आवास पर उस देश के कुछ वर्तमान और पूर्व अधिकारियों की बैठक हुई थी.

राहुल ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में अपने भाषणों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना आधा वक्त कांग्रेस की आलोचना में बिताया है. राहुल ने कहा, ‘‘एक तरफ वह दावा करते हैं कि उन्होंने भारत से कांग्रेस का सफाया कर दिया है तो दूसरी तरफ वह अपना आधा वक्त कांग्रेस को दे रहे हैं. उनके भाषण का शेष आधा समय स्वयं नरेन्द्र मोदी जी के लिए होता है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मोदीजी कृपया अपने भाषण में दो-तीन मिनट गुजरात के भविष्य के बारे में भी बात कीजिए.’’ राहुल ने भ्रष्टाचार पर मोदी की चुप्पी पर भी सवाल किए. उन्होंने अमित शाह के बेटे की कंपनी के टर्नओवर के कथित तौर पर काफी बढ़ने को लेकर उन पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘‘नरेन्द्र मोदी जी अमित शाह से डरते हैं, इसलिए वह जय शाह के बारे में एक भी शब्द नहीं कह रहे हैं.’

हाल ही में लोकसभा और बीजेपी से इस्तीफा दे चुके नाना पटोले ने राहुल गांधी के साथ मंच साझा किया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने दावा किया कि उनसे मिलने के लिए गये वरिष्ठ सांसदों के साथ उन्होंने ‘अभद्र’ व्यवहार किया था.

रैली को संबोधित करते हुये पटोले ने कहा कि उन्होंने बीजेपी से अलग होने का निर्णय इसलिए लिया, क्योंकि नरेन्द्र मोदी किसानों के मुद्दों को सुलझाने में नाकाम रहे और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के अपने वादों पर कायम नहीं रहे.

Top Stories