Tuesday , April 24 2018

PNB घोटाले में CBI ने जांच के दायरे को बढ़ाया, इलाहाबाद बैंक अधिकारी से हो रही पुछताछ

नई दिल्ली। पीएनबी घोटाले में जाँच का दायरा बढ़ने के साथ ही अन्य बैंकों की भूमिका भी सामने आई है। इसी कड़ी में सीबीआई ने मंगलवार को इस मामले में इलाहाबाद बैंक की सीईओ और एमडी उषा अनंतसुब्रमण्यन से भी पूछताछ की।

उल्लेखनीय है कि इंडियन बैंक एसोसिएशन की प्रमुख उषा अनंतसुब्रमण्यन इसके पूर्व पीएनबी में वरिष्ठ पदों पर रह चुकी हैं, जहां 2011 से ही नीरव और चौकसी ने फर्जी तरीके से गारंटी हासिल की।

उषा 14 अगस्त 2015 से पीएनबी की एमडी और सीईओ थीं। यही नहीं, वह जुलाई 2011 से नवंबर 2013 तक बैंक की कार्यकारी निदेशक भी थीं। उन्हें 6 मई 2017 को इलाहाबाद बैंक में नियुक्ति मिली।

इस मामले में सीबीआई ने खुलासा किया कि उनसे (उषा) आरोपी के तौर पर पूछताछ नहीं की गई ,बल्कि एजेंसी यह जानना चाहती थी कि कैसे इतना बड़ा लेनदेन होता रहा और किसी की नजर में नहीं आया.सीबीआई को शक है कि ऑडिट रिपोर्ट्स में इन लेनदेन पर सवाल उठाए गए लेकिन वरिष्ठ अधिकारियों ने इसे नजरअंदाज कर दिया।

इसकी रोकथाम के लिए अब पीएनबी ने ए. के. प्रधान को ग्रुप चीफ रिस्क ऑफिसर के पद पर नियुक्त किया है। वहीं वित्त मंत्रालय ने भी मंगलवार को सभी सरकारी बैंकों को निर्देश जारी कर 15 दिनों में कार्य योजना बनाने को कहा है।

TOPPOPULARRECENT