PNB घोटाला: बैंक के अधिकारियों को हर लेटर ऑफ़ अंडरटेकिंग के एवज़ में मिलता था मोटा कमीशन: CBI

PNB घोटाला: बैंक के अधिकारियों को हर लेटर ऑफ़ अंडरटेकिंग के एवज़ में मिलता था मोटा कमीशन: CBI
Click for full image

मुंबई: पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के 11360 करोड़ रुपये से अधिक के घोटाले के मामले में सीबीआई ने कई अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। जांच के दौरान जांच एजेंसी को बैंक अधिकारियों से कई अद्भुत सूचना मिली है। अधिकारियों के अनुसार हर लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) के लिए उन्हें मोटा कमीशन मिलता था, एग्रीमेंट की राशि के आधार पर कमीशन तय किया जाता था।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

सीबीआई ने यह जानकारी रविवार को प्राप्त की, सीबीआई के अनुसार पीएनबी की ओर से शेयर किए गए आंकड़ों के अनुसार इस घोटाले में 63 दिनों में ही 143 एलओयू जारी कर दिए गए थे, हर एलओयू पर कमीशन निर्धारित थी, जो सभी अधिकारियों के बीच वितरित की जाती थी। सीबीआई ने रायपुर में गीतांजली स्टोर पर छापेमारी की है।

गौरतलब है कि PNB घोटाला में सीबीआई ने बैंक अधिकारी गोकुलनाथ शेट्टी, मनोज खरात और हेमंत भट्ट को गिरफ्तार किया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। सीबीआई ने कहा कि मामले में हीरे के व्यापारी नीरव मोदी और उनके रिश्तेदार मेहुल चौकसी सहित बैंक के कुछ कर्मचारियों के खिलाफ जाँच की जा रही है।

Top Stories