VIDEO- सीएए, एनआरसी के खिलाफ हैदराबाद में शायरी और कविता के जरिये किया गया विरोध प्रदर्शन

VIDEO- सीएए, एनआरसी के खिलाफ हैदराबाद में शायरी और कविता के जरिये किया गया विरोध प्रदर्शन

हैदराबाद- शनिवार को यहां गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर एक अनोखे विरोध-प्रदर्शन में कवियों ने सीए-एएए पर कविता और शायरी के जरिये अपने  गुस्से का इज़हार किया ।

हजारों लोगों ने कविता, कव्वाली और व्यंग्य के रूप में ऐतिहासिक चारमीनार के पास स्थित खिलवत मैदान में सरकार पर निशाना साधा, पुलिस की ज्यादती और सांप्रदायिकता की निंदा की।

प्रमुख कवियों राहत इंदौरी, मंजर भोपाली, शबीना अदीब और संपत सरल ने भारी भीड़ के बीच अपनी कविताओं से लोगों का दिल जीत लिया।

लोगों की मांग पर राहत इंदौरी ने अपनी प्रसिद्ध कविता “किसके बाप का हिंदुस्तान थीड़ी है” भी पढ़ी ।

कुछ लोगों द्वारा इसे मुस्लिम कवि की कविता के रूप में चित्रित करने के प्रयासों की निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि यह उन सभी सच्चे भारतीयों की आवाज है जिन्होंने इस राष्ट्र के निर्माण के लिए अपना खून बहाया। उन्होंने कहा कि वह ” जिहादी ” कहे जाने से बहुत पीड़ित थे।

शबीना अदीब ने अपने अनूठे अंदाज में अपनी कविता हिन्द ये हिन्दुस्तान हमारा है ’सुनाई। बता दें यूनाइटेड मुस्लिम एक्शन कमेटी, जिसमें से ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) एक हिस्सा थी ने कार्यक्रम का आयोजन किया।

AIMIM प्रमुख और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की।  यह कार्यक्रम मूल रूप से चारमीनार में आयोजित होने वाला था, लेकिन पुलिस ने यहाँ इज़ाज़त न देते हए इसे ख़िलावत मैदान में स्थानांतरित करने के लिए कहा।

Top Stories