Saturday , November 25 2017
Home / Khaas Khabar / बुर्क़ा बैन करने की मांग पड़ी महंगी, पुलिस ने आतंकी समझकर हिरासत में लिया

बुर्क़ा बैन करने की मांग पड़ी महंगी, पुलिस ने आतंकी समझकर हिरासत में लिया

ब्रिटेन में मुस्लिम महिलाओं के नकाब पर प्रतिबंध के खिलाफ अभियान चला रहे एक 57 वर्षीय व्यक्ति को सशस्त्र पुलिस बल ने उस वक्त घेर लिया जब वह नकाब पहनकर सड़क पर घूम रहा था।

न्यूज़ वेबसाइट डेवोन लाइव के मुताबिक, 57 वर्षीय गैस फिटर थॉमस डन डेबनहन्स नाम के एक स्टोर में घुस गया, जहां उसने मुस्लिम पोशाक (नकाब) पहना और वहां मौजूद भीड़ के सामने तेज़ आवाज़ में प्रार्थना करने लगा। जिसके बाद वह स्टोर से बाहर निकला और नकाब उतारकर सड़क पर चलने लगा। डन की इस संदिग्ध हरकत को देखते हुए सशस्त्र पुलिस बल ने उसे घेर लिया।

पुलिस ने घटना की पुष्टी करते हुए बताया कि रविवार को 12.30 बजे एक्सीटर में रानी स्ट्रीट पर आतंकी गतिविधी के शक में एक व्यक्ति को रोका गया था लेकिन पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया था।

रिहा होने के बाद डन से जब पूछा गया कि उसने ऐसा क्यों किया तो जवाब में डन ने कहा कि इसके पीछे उसका मकसद लोगों को जागरुक करना है।  

उसने कहा कि लोग बुर्के से भयभीत होते हैं, इसलिए वो इसे बैन किए जाने के लिए मुहिम चला रहा है। 

डन ने कहा, “मैं हमेशा बुर्का पहनने वाले लोगों से थोड़ा सा भयभीत रहा हूं और सभी आतंकवादी हमलों के बाद से मुझे लगता है कि सरकार को सीसीटीवी पर अपने चेहरे को कवर करने से हर किसी को रोकना चाहिए”।

अपनी इस हरकत को सही ठहराते हुए डन ने कहा, “जो मैं कर रहा हूं वह गैरकानूनी नहीं है, और मैं निश्चित रूप से हर हफ्ते ऐसा करने जा रहा हूं या मैं इसे सप्ताह में दो बार बढ़ा सकता हूं। मैंने पुलिस को बताया है कि मैं क्या कर रहा हूं”। 

TOPPOPULARRECENT