कासगंज के असली आरोपियों के बजाय पुलिस बेगुनाह मुसलमानों को परेशान कर रही है: मौलाना ओसामा

कासगंज के असली आरोपियों के बजाय पुलिस बेगुनाह मुसलमानों को परेशान कर रही है: मौलाना ओसामा
Click for full image

लखनऊ: गणतंत्र दिवस के मौके पर कासगंज में तिरंगा यात्रा पर हमला की फर्जी सुचना पर फैला कर कासगंज में माहौल खराब करने वाले असल आरोपियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। बल्कि वहां पर पुलिस मुसलमानों के खिलाफ एकतरफा कार्रवाई कर के बेगुनाह मुसलमानों को गिरफ्तार कर के जेल रवाना कर रही है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

पुलिस की इस कार्रवाई के खिलाफ आज जमीअत उलेमा के राज्य अध्यक्ष मौलाना ओसामा कासमी की नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने गवर्नर राम नाईक से मुलाक़ात कर के उनको मेमोरंडम सोंपा जिसमें कासगंज मामला की उच्च स्तरीय जांच, प्रतापगढ़ में शरारती तत्वों के हाथों मारी गई राबिया के घर वालों को मुआवजा और इलाहबाद दलित नौजवान दिलीप सरोज के हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग की गई।

मौलाना ओसामा ने बताया कि मेमोरंडम में कासगंज में हुए साम्पदायिक दंगा के बाद पुलिस की ओर से एकतरफा कार्रवाई की जा रही है। इस पर वहां पर रहने वाले मुसलमान परेशान हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस अभी यह तक पता नहीं कर सकी कि चन्दन की मौत केस जगह पर हुई थी उसको किस बंदूक से गोली मारी गई, चन्दन पर गोली किसने चलाई उन सभी बातों को पुलिस पूरी तरह से नजरअंदाज कर रही है।

Top Stories