हार के बाद EVM को बली का बकरा बनाती हैं राजनीतिक पार्टियाँ: चीफ इलेक्शन कमिश्नर

हार के बाद EVM को बली का बकरा बनाती हैं राजनीतिक पार्टियाँ: चीफ इलेक्शन कमिश्नर
Click for full image

नई दिल्ली: चीफ इलेक्शन कमिश्नर ओम प्रकाश रावत ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में गडबडी के आरोप लगाने वाली राजनीतिक पार्टियों को लेकर कड़ी टिप्पणी की है। उन्होंने सभी आरोपों को ख़ारिज करते हुए कहा कि निश्चित रूप से इसमें कोई संदेह की गुंजाईश नहीं है

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

रावत ने कहा कि राजनीतिक दल अपनी हार का ठीकरा ईएमएम पर फोड़ कर उसको बली का बकरा बना रही हैं, क्योंकि इवीएम बोल नहीं सकती। वहीं कई राजनीतिक पार्टियों की ओर से फिर से बैलट पेपर से इलेक्शन कराने के मांगों पर रावत ने कहा कि बैलट पेपर की ओर फिर से वापस लौटने का सवाल ही पैदा नहीं होता है।

आने वाले चुनाव वीवीपेट वाली इवीएम से ही होंगे। उन्होंने दावा किया कि भारत में साफ़ सुथरी और निष्पक्ष चुनावी प्रकिया ने पूरी दुनिया को प्रभावित किया है। कोलकाता में मर्चेंट्स चेंबर को कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज की ओर से आयोजित चुनावी ईमानदारी और एलेक्शन में धन का रोल पर आयोजित एक वार्ता सेशन में रावत ने कहा कि राजनीतिक पार्टियों को अपनी हार का ठीकरा फोड़ने के लिए किसी चीज़ की जरूरत होती है, ऐसे में वह आसानी से इवीएम को बली का बकरा बना देती हैं, क्योंकि वह बोल नहीं सकती।

Top Stories