Tuesday , December 19 2017

सच बोलने का मतलब एंटी मोदी होना नहीं है, ईमानदार होने की कीमत चुका रहा है: प्रकाश राज

हाल ही में बॉलीवुड अभिनेता प्रकाश राज ने पीएम मोदी को उनसे बड़ा एक्टर बताकर एक नई बहस को जन्‍म दिया है।

गौरी लंकेश की हत्या के मामले में द हिंदू को दिए गए इंटरव्‍यू में, प्रकाश राज ने कहा कि वे पीएम मोदी की चुप्‍पी से दुखी थे। उन्होंने कहा था कि गौरी लंकेश की हत्या के संबंध में वह पीएम मोदी की चुप्पी की आलोचना करते हैं।

यह निराशाजनक है कि प्रधानमंत्री सोशल मीडिया पर उन लोगों को फालो करते हैं, जो लंकेश की हत्या का जश्न मनाते हैं। उनके हत्यारों को अभी तक पकड़ा नहीं गया है।
पीएम मोदी के साथ उन्होंने यूपी के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा था, “जब आप सीएम योगी के बयानों को सुनते हैं, तब आप यह नहीं समझ पाते कि वह एक मुख्यमंत्री हैं या एक पुजारी हैं।”

हालांकि इसके लिए सोशल मीडिया पर ट्रोल किए जा रहे प्रकाश राज इससे प्रभावित नजर नहीं दिख रहे।

उन्होंने कहा कि देश का एक जिम्‍मेदार नागरिक होने के नाते उन्हें पीएम मोदी की इस चुप्‍पी से तकलीफ हुई। क्‍या यह पाप है? इस टिप्पणी के लिए उन्हें एंटी-मोदी करार दिए जाने पर उन्होंने कहा कि ‘मुझे यह कहने का अधिकार है।

ऐसा करने के लिए उन्‍होंने मुझे एंटी मोदी कहने की हिम्‍मत कैसे की। मैं एंटी मोदी नहीं हूं। मेरे कुछ मुद्दों पर उनसे मतभेद हैं। मैं ईमानदार होने की कीमत चुका रहा हूं। चाहे जो भी हो, मैं सच बोलूंगा, जब भी जरूरत होगी।”

 

TOPPOPULARRECENT