‘बाबुल सुप्रियो खाल खींचने का बयान देकर आपने असभ्यता दिखाई, इमाम ने शांति की अपील कर संस्कृति दिखाई’

‘बाबुल सुप्रियो खाल खींचने का बयान देकर आपने असभ्यता दिखाई, इमाम ने शांति की अपील कर संस्कृति दिखाई’

कर्नाटक चुनाव से पहले इंडिया टुडे के कार्यक्रम ‘कर्नाटक पंचायत’ के चौथे सत्र में अभिनेता प्रकाश राज, कांग्रेस नेता खुशबू सुंदर, बीजेपी प्रवक्ता मालविका अविनाश और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने शिरकत की.

इनमें से तीन हस्तियां फिल्म जगत से आती हैं और चारों वक्ताओं देश के मौजूदा राजनीतिक हालात पर अपनी-अपनी बात रखी. अभिनेता प्रकाश राज ने हिंदुत्व और संस्कृति के सवाल को लेकर बीजेपी पर करारा हमला बोला और कर्नाटक में बीजेपी की राजनीति के विफल होने का दावा भी किया. किस हिन्दुत्व से है दिक्कत? इस सवाल के जवाब में प्रकाश ने कहा कि आज रीति-रिवाजों को धर्म मान लिया गया है.

जिस हिन्दुत्व में स्टेज पर गो-मूत्र छिड़कने की बात हो रही है इस हिसाब से उन्हें रोज एक गिलास गो मूत्र पीना चाहिए, क्योंकि ये भी तो एक मान्यता है. लेकिन आप मुझसे ऐसा करने के लिए नहीं कह सकते. प्रकाश कहा कि हर धर्म चाहे वो हिंदुत्व ही क्यों न हो, हमेशा दूसरे के प्रति सहिष्णु रहना सिखाता है. प्रकाश ने कहा कि कर्नाटक में इस तरह की राजनीति काम नहीं करने वाली है.

 

 

उन्होंने कहा कि जब नतीजे आएंगे तो आप देखेंगे कि यहां की जनता ऐसी राजनीति को नकार देगी. विविधता से बनता है समाज अभिनेता प्रकाश राज ने कहा कि विविधता के बिना बेहतर समाज की कल्पना मुमकिन नहीं है. उन्होंने कहा कि सभी का सम्मान देना और भाई-चारे से रहना ही समाज की पहचान है लेकिन जो कथित हिंदुत्व है वह इसकी इजाजत नहीं देता.

https://www.youtube.com/watch?v=dn847leP8T0

उन्होंने कहा कि बीजेपी जिस तरह के हिंदुत्व को लाना चाहती है वह यहां काम करने वाला नहीं है. बाबुल के बयान की निंदा प्रकाश ने कहा कि संस्कृति के बारे में सीखने है तो उस इमाम से सीखें जो अपने बेटे को गंवाने के बाद भी शांति बनाए रखने की अपील कर रहा है. प्रकाश ने बाबुल सुप्रियो से कहा कि आपने खाल खींचने वाला बयान देकर अपसंस्कृति दिखाई है.

आसनसोल से सांसद सुप्रियो ने पिछले दिनों टीएमसी कार्यकर्ताओं की खाल खींचने की बात कही थी. प्रकाश राज ने कहा कि हिंदू धर्म सहिष्णु है लेकिन बीजेपी के नेता अपने बयानों में इस सहिष्णुता को भूल जाते हैं. बीजेपी की कोई विचारधारा नहीं है, वह संघ की विचारधारा पर काम करती है. प्रकाश ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री अनंत हेगड़े एक समुदाय के सफाए की बात करते हैं लेकिन पार्टी की तरफ से इसपर कोई सफाई नहीं दी जाती है.

Top Stories