Tuesday , April 24 2018

प्रधानमंत्री के फलीस्तीन दौरे से फलस्तीन मसले को मजबूती मिली : मुफ़्ती मुकर्रम अहमद

नई दिल्ली। मस्जिद फतेहपुर सीकरी के शाही इमाम मुफ़्ती मुकर्रम अहमद ने मुसलमानों का ताकीद की कि वे इल्म के साथ नेक अमल करने की कसरत करें। इल्म का फायदा तब ही होता जब अमल उसके मुताबिक हो। भूखे इंसान के पास रोटी रखे रहने से कोई फायदा नहीं बल्कि उसको खाने से पेट भरेगा।

आज मुसलमान कुरआन और हदीस की फजीलत को तो मानते हैं लेकिन इनकी हिदायत के मुताबिक अमल से दूर हैं और यही परेशानियों का सबब है। उन्होंने कश्मीर में लगातार खराब हालात पर दुःख जताते हुए सरकार से अपील की कि कश्मीरियों के जज्बात को समझकर उनकी परेशानियों को हमदर्दी के साथ हल करने का कदम उठाये। दोनों मुल्कों का अपनी जनता की फिक्र करनी चाहिए।

काफी संख्या में लोग मारे जा रहे हैं इससे मसला हल नहीं होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी कहा था कि ना गोली से ना गाली से बल्कि हमदर्दी से मसला हल होना चाहिए। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के फलीस्तीन दौरे का स्वागत किया और कहा कि इससे फलस्तीन मसले को मजबूती मिली है। आज कौम को संगठित होने की अहम् जरुरत है।

TOPPOPULARRECENT