Friday , July 20 2018

सरकार सोचती है कि वो मज़लूम रोहिंग्या को वापस भेज देगी, लेकिन आवाम ऐसा होने नहीं देगी: प्रो. अपूर्वानंद

म्यांमार में रोहिंग्या समुदाय हिंसा का शिकार हो रहा है, अब तक हज़ारों रोंहिग्या मुसलमान मारे जा चुके हैं । जिसके बाद से रोहिंग्या मुसलमानों ने म्यांमार से पलायन करना शुरु कर दिया । भारत में हज़ारों की संख्या में रोहिंग्या मुसलमान शरणार्थी बना हुआ है । लेकिन केंद्र सरकार इन रोहिंग्या मुसलमानों को देश की सुरक्षा के लिए ख़तरा मान रही है । केंद्र का कहना है कि रोहिंग्या मुसलमान भारत में अवैध शरणार्थी है इसलिए उन्हें उनके मुल्क वापस भेजा जाएगा ।

रोहिंग्या मुसलमानों को भारत भेजने के रुख़ का देश में विरोध हो रहा है । संयुक्त राष्ट संघ भी भारत को कई बार चेता चुका है कि भारत रोहिंग्या मुसलमानों को इस तरह से बाहर नहीं निकाल सकता है ।

दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर और राजनीतिक विशलेषक प्रो. अपूर्वानंद ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि ‘सरकार सोचती है कि इन मज़लूम रोहंगिया को वापस भेज देगी, लेकिन देश की अावाम ऐसा नहीं होने देगी । प्रो.अपूर्वानंद ने देश की जनता रोहिंग्या मुसलमानों के साथ है ।

रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं । भारत के मुस्लिम भी मोदी सरकार के इस फ़ैसले का विरोध कर रहे हैं । दिल्ली समेत कई इलाकों में रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन और म्यांमार सरकार के खिलाफ़ प्रदर्शन भी हो रहे हैं ।

TOPPOPULARRECENT