VIDEO: अलवर में उमर की हत्या के विरोध में पुरे देश में हो रहा विरोध प्रदर्शन

VIDEO: अलवर में उमर की हत्या के विरोध में पुरे देश में हो रहा विरोध प्रदर्शन
Click for full image

राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षकों की बर्बरता और जुल्म का शिकार हुए मोहम्मद उमर के परिजन आखिरकार 6 दिनों के बाद पोस्टमार्टम के लिए तैयार हो गए हैं।

पोस्टमार्टम के बाद उमर के शव को अलवर स्थित उसके गांव ले जाया जा रहा है और वहीं उसके जनाजे को दफ्न किया जाएगा।

इससे पहले दर्जनों संगठनों से जुड़े लोगों, समाजी कार्यकर्ताओं और नेताओं ने बड़ी तादाद में सरकार के खिलाफ मार्च निकालने की कोशिश की, जिसे पुलिस और अर्धसैनिक बलों ने आगे नहीं बढ़ने दिया।

इससे नाराज प्रदर्शकारी बीच सड़क पर बैठ गए और सरकार की निष्क्रियता के खिलाफ नारेबाजी की।

मोती डोंगरी पुलिस स्टेशन के करीब हुई सभा में प्रदर्शनकारियों ने कहा कि, ‘हम अमनपसंद लोग हैं और किसी भी तरह से स्थिति को बिगाड़ना नहीं चाहते।’ वक्ताओं ने कहा कि सरकार इस मामले में मुकदर्शक बनी हुई है और पुलिस अपनी मनमर्जी कर रही है।
https://youtu.be/kpbpm4b-u7Y
उन्होंने कहा, मेवात में आज इंसानों का जानवरों की तरह कत्ल किया जा रहा है। सरकार अपना रवैया बदले वरना इस तरह तो मेवात के साथ-साथ पूरा राज्य अल्पसंख्यकों की कत्लगाह बनकर रह जाएगा।

प्रदर्शकारियों ने सवाल उठाया, पुलिस को पहले दिन से ही सारी खबर थी, फिर भी वह खामोश क्यों रही और सख्त कदम क्यों नहीं उठाए गए?प्रदर्शनकारियों ने अपने हाथों में प्ले कार्ड, तख्तियां और बैनर लिए हुए थे जिन पर, नफरत और डर की राजनीति बंद करो, भीड़तंत्र नहीं ये लोकतंत्र है, उमर के कातिलों को गिरफ्तार करो और जिम्मेदार पुलिसकर्मियों को बर्खास्त करो, जैसे नारे लिखे हुए थे।

प्रदर्शन के बाद मुस्लिम मुसाफिरखाने में एक बैठक की गई और तय हुआ कि अब इस लड़ाई को कानूनी तरीके से ही लड़ा जाएगा। बैठक में सलाह मशवरे के बाद उमर की लाश का पोस्टमार्टम कराने पर सहमति बनी।

उसके बाद वकीलों और कानून के विशेषज्ञों की एक टीम का गठन किया गया ताकि इस हत्याकांड के दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलवाई जा सके।

इस दौरान ये भी फैसला लिया गया कि उमर के परिजनों को इस लड़ाई के लिए आर्थक मदद भी दी जाए।

Top Stories