Monday , July 16 2018

बांग्लादेश की अदालत में न्याय की देवी की जगह कुरआन रखने की मांग, सड़क पर उतरे प्रदर्शकारी

बांग्लादेश की सर्वोच्च अदालत में न्याय की देवी की मूर्ति की जगह कुरआन रखने की मांग की गई है। इसे लेकर देश के कई जगहों पर प्रदर्शन हुए। इसके अलावा चीफ जस्टिस को भी हटाने की मांग की गई है।

कुछ समूहों ने मांग की है कि आंखों पर पट्टी बंधी और हाथों में तराजू लिए इंसाफ की देवी प्रतिमा को हटाया जाए। इसके लिए दलील दी गई है कि यह ग्रीक देवी की मूर्ति है जो बांग्लादेश के लिए उपयुक्त नहीं है।

ढाका के बैतुल मुकर्रम मस्जिद में शुक्रवार की नमाज के बाद हजारों आंदोलनकरी इकठ्ठा हुए जिन्होंने अपने-अपने हाथों में तख्तियां ले रखी थी। आंदोलकारियों ने सरकार से मांग किया कि ग्रीक की देवी की जगह कुरआन रखा जाए।

इस्लामी आंदोलन बांग्लादेशी (आईएबी) के प्रवक्ता अतीक-उर-रहमान ने बताया कि मूर्ति को हटाने में टालमटोल करने की वजह से देश के चीफ जस्टिस को भी हटाने की मांग की गई है।

बता दें कि पिछले हफ्ते देश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी मूर्ति को हटाने की बात कर चुकी हैं। इससे बाद आंदोलनकारियों को और भी बल मिला। वहीं हसीना के इस कदम को लेकर उनके विरोधियों का कहना है कि उन्होंने यह बयान आम चुनाव को ध्यान में रखकर दिया है।

TOPPOPULARRECENT