मुसलमानों को मस्जिद बनाने के लिए उचित जगह दिया जाना चाहिए- पेजावर मठ के स्वामी

मुसलमानों को मस्जिद बनाने के लिए उचित जगह दिया जाना चाहिए- पेजावर मठ के स्वामी

सुप्रीम कोर्ट ने दशकों पुराने अयोध्या मामले पर अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने माना है कि विवादित जगह पर ही है राम मंदिर और वहीं वो बनेगा। इसके अलावा मुसलमानों को अलग से 5 एकड़ जमीन देने का भी आदेश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत हो
हरिभूमी पर छपी खबर के अनुसार, इस फैसले के बाद हिंदू मुस्लिम और देश विदेश से प्रतिक्रियाएं आ रही है। सभी लोग शांति बनाए रखने और किसी की हार या जीत नहीं हुई है। सभी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है।

मुसलमानों को दी जाये उचित स्थान
कर्नाटक के पेजावर मठ के विश्वेश्वर तीर्थ स्वामी ने फैसले को लेकर कहा कि मुसलमानों को भी मस्जिद के लिए उचित स्थान दिया जाना चाहिए। हिंदुओं को मस्जिद बनाने के लिए समर्थन देना चाहिए और मुसलमानों को भी मंदिर बनाने के लिए समर्थन देना चाहिए। इसके माध्यम से सभी को अपनी एकजुटता दिखानी चाहिए।

प्रिंस याक़ूब का बयान
मुगल वंशज प्रिंस याकूब ने कहा कि मुसलमानों को राम मंदिर निर्माण के लिए हिंदुओं से जुड़ना चाहिए। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा कि हम एक सिविल मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर पाकिस्तान द्वारा किए गए अनुचित और गंभीर टिप्पणियों को अस्वीकार करते हैं जो भारत के लिए पूरी तरह से एक आंतरिक मामला है।

मस्जिद के लिए दी जाए पांच एकड़ जमीन
शनिवार को दिन भारत के इतिहास में एक बड़ा दिन रहा। जहां कई दशकों से चला आ रहा राम मंदिर और बाबरी मस्जिद जमीन विवाद को लेकर अपना फैसला सुप्रीम कोर्ट ने सुना दिया। 40 दिनों तक लगातार सुनवाई के बाद बीते महीने फैसले को सुरक्षित रख लिया था। कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि विवादित जगह पर राम मंदिर के निर्माण हो और केंद्र को 5 एकड़ जमीन बाबरी मस्जिद बनाने के लिए दें।

Top Stories