Saturday , July 21 2018

Punish a Muslim Day पर ब्रिटेन की मुस्लिम महिलाएं हिजाब छिपाने और घर के अंदर रहने को दे रहे हैं संदेश

मुस्लिम महिलाओं को चेतावनी देने के लिए WhatsApp संदेश साझा किए जा रहे हैं

लंदन : यूनाइटेड किंगडम में महिलाओं को ‘Punish a Muslim Day’पर अपने हिजाब को छिपाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है जो 3 अप्रैल यानी आज मुसलमानों के खिलाफ हिंसा को प्रोत्साहित करता है। इस महीने की शुरुआत में, इंग्लैंड में कम से कम छह समुदायों ने हिंसा के लिए 3 मार्च को मुस्लिमों को दंड देने के लिए एक दिन मुकर्रर किया था जो आज है. इस दिन के लिए सफेद लिफाफे में संलग्न गुमनाम पत्र बांटे गये जिसमें संदेशों को पोस्ट के माध्यम से बांटे गये।

उत्तर पूर्व काउंटर टेररिज्म यूनिट ने एक बयान में कहा है कि उसे “पूरे ब्रिटेन में लोगों को भेजे जाने वाले संभावित दुर्भावनापूर्ण संचार” की रिपोर्ट मिली है और उन्होंने पीड़ितों से अपने स्थानीय पुलिस से संपर्क करने को कहा है।

मुस्लिम महिलाओं को सतर्क करने के लिए चेतावनी दी गई है कि वे अपने बच्चों को स्कूल से लाते समय अंधेरे या शेड वाले क्षेत्रों में न चलें
पत्र के अनुसार यूके के नागरिकों को 3 अप्रैल को “सज़ा के रूप में मुस्लिम दिवस” का पालन करने के लिए कहते हैं और हिंसक कृत्यों की सूची देता है कि लोग किसी मुस्लिम को टार्गेट कर सकते हैं जो इस्लाम का अनुयायी है; प्रत्येक कार्रवाई के लिए पॉइन्टस के एक सेट मुहैया कराया जाता है, उदाहरण के लिए, एक महिला के सर का स्कार्फ खींचने के लिए 25 पॉइन्टस मुस्लिम की हत्या के लिए 500 पॉइन्टस देने का एलान किया है। अन्य हिंसक दंड में मुसलमानों को मारना और मस्जिदों पर बमबारी करना शामिल है।

इस पत्र में 3 अप्रैल का दिन निश्चित किया गया था ताकि इन हिंसक हमलों से पश्चिमी यूरोप के लिए “चीजों को बदलने में मदद” किया जा सके।

लंदन स्थित अखबार द मेट्रो के मुताबिक, मुस्लिम समुदाय के बीच सर्कुलेट होने वाले संदेशों में बच्चों को स्कूल से लाने के लिए महिलाओं को एवोइड करने की चेतावनी दी गई है। मुसलमान एक-दूसरे को अपने दरवाजे को ठीक से लॉक करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं, खुले स्थान में जाने के लिए ग्रुप में चलने को कहा जा रहा है. द मिरर द्वारा देखे गए व्हाट्सएप संदेशों में से एक ने लिखा “बहनों कृपया सतर्क रहें, 3 अप्रैल को कहीं बाहर मत निकलो, क्योंकि कुछ लोग इस दिन को मुसलमानों को दंड देने के रूप में निश्चित किया है!

“यह कोई मजाक नहीं है! दूसरे संदेश में, महिलाओं को अंधेरे या शेड वाले क्षेत्रों से बचने का आग्रह किया जा रहा है, एक पड़ोसी के साथ कार में यात्रा करने और टोपी या कोट से हिजाब को ढक कर रखने को कहा जा रहा है। द मेट्रो ने बताया कि “एक और संदेश में, महिलाओं को अंधेरे या शेड वाले क्षेत्रों से बचने, पड़ोसी के साथ एक कार में यात्रा करने और टोपी या कोट के साथ हिजाब को कवर करने का आग्रह किया जा रहा है। उन्हें अबाया पहनने से बचने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है और किसी को भी किसी से सवाल पूछने के लिए नहीं रोकने को कहा गया है। ”

लिबरल डेमोक्रेट, रियाज अहमद, जिनको एक वैसा हीपत्र मिला था
“घर लौटने के बाद अपने दरवाजे को अच्छी तरह से लॉक करें और किसी को भी दरवाज़े के अंदर से जवाब न दें जिसे आप अच्छी तरह से नहीं जानते हों,”
TOPPOPULARRECENT