Tuesday , January 23 2018

सभी दलित होने वाले अत्याचारों को रोकने के लिए हिंदू धर्म छोड़ दें- केंद्रीय मंत्री

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा की दलितों को हिंदू धर्म में  न्याय नहीं मिलेगा,इसलिए बौद्ध धर्म अपनाएं .बाबासाहब अंबेडकर का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने बौद्ध धर्म तब अपनाया जब उन्हें पूरी तरह भरोसा हो गया कि दलितों को हिंदू धर्म में न्याय नहीं मिलेगा. अठावले ने दलित समुदाय के सदस्यों से भी ऐसा ही करने को कहा.

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री अठावले ने यहां जारी किए गए एक बयान में कहा, ‘‘

बयान के अनुसार मंत्री ने कहा कि अंबेडकर ने कट्टर ‘‘हिंदुत्ववादियों’’ को सुधार करने का मौका दिया था, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और इसलिए उन्होंने धर्म परिवर्तन किया. अठावले ने कहा, ‘‘सभी दलित अपने ऊपर होने वाले अत्याचारों को रोकने के लिए हिंदू धर्म छोड़ दें और बौद्ध धर्म अपना लें.’’

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के प्रमुख अठावले ने बसपा प्रमुख मायावती को भी निशाने पर लेते हुए कहा कि वह बार बार धमकियां देने की जगह उन्हें बौद्ध धर्म अपना लेना चाहिए. अठावले के अनुसार मायावती देश के दलितों को एकमंच पर लाने में भी असफल रही हैं.

रामदास अठावले इससे पहले सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को ‘20-25 फीसदी आरक्षण’ देने के लिए संविधान में संशोधन की पैरवी कर चुके हैं. उन्होंने गरीब सवर्णों को आरक्षण देने की वकालत करते हुए कहा था कि सवर्ण तबकों के गरीबों को शिक्षा एवं रोजगार में आरक्षण देने से दलितों पर अत्याचार रुक जाएगा. उन्होंने कहा था कि गरीब सवर्णों को आरक्षण देने से जाति व्यवस्था के भी खत्म होने में मदद मिलेगी.

TOPPOPULARRECENT