आसनसोल के इमाम रशीदी और दिल्ली के यशपाल सक्सेना ने दिखाया की देश में नफरत को हराया जा सकता है- राहुल गांधी

आसनसोल के इमाम रशीदी और दिल्ली के यशपाल सक्सेना ने दिखाया की देश में नफरत को हराया जा सकता है- राहुल गांधी

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को सांप्रदायिक हिंसा में अपने पुत्र की कुर्बानी देने के बाद भी शांति की अपील करने वाले आसनसोल के इमाम रशीदी और दिल्ली के यशपाल सक्सेना की सराहना की है। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की विचारधारा को जीतने नहीं देगी।

राहुल ने कहा, नफरत और सांप्रदायिकता के चलते अपने पुत्र को खोने के बाद यशपाल सक्सेना और इमाम रशीदी ने दिखाया है कि भारत में प्यार हमेशा नफरत को हराएगा। उन्होंने कहा, कांग्रेस की नीव करुणा और आपसी भाईचारा है। हम भाजपा/आरएसएस द्वारा फैलाई गई विचारधारा को जीतने नहीं देंगे।

यशपाल सक्सेना के बेटे अंकित सक्सेना की एक फरवरी को उसकी प्रेमिका के परिजनों ने हत्या कर दी थी। दिल्ली पुलिस के अनुसार, अंकित की प्रेमिका के परिजन उसके दूसरे समुदाय का होने की वजह से दोनों के संबंधों के खिलाफ थे और दोनों को संबंध समाप्त करने के लिए भी कहा था।

पश्चिम बंगाल में रामनवमी के जुलूस के दौरान आसनसोल की मस्जिद के इमाम मौलाना इमदादुल रशीदी का 16 वर्षीय बेटा हिंसा की चपेट में आकर मारा गया था। दोनों दिवंगतों के पिता ने शांति की अपील की है।

Top Stories