सोहराबुद्दीन मुठभेड़: CBI की अदालत से अपील, बयानों से मुकर सभी गवाहों को नहीं किया जाये खारिज!

सोहराबुद्दीन मुठभेड़: CBI की अदालत से अपील, बयानों से मुकर सभी गवाहों को नहीं किया जाये खारिज!

सोहराबुद्दीन शेख कथित फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई कर रही विशेष अदालत से सीबीआइ ने सोमवार को आग्रह किया कि बयानों से मुकर गए अभियोजन के गवाहों की गवाहियां पूरी तरह खारिज न की जाएं। जबकि अदालत ने कहा कि सीबीआइ की थ्योरी और आरोप पत्र पहेलियों और अस्पष्ट शून्यता से भरा हुआ है।

सीबीआइ का कहना है कि सोहराबुद्दीन, उसकी पत्नी कौसर बी और उसके सहयोगी तुलसीराम प्रजापति की 2005 और 2006 में हत्या पूर्व नियोजित थी। अगर एजेंसी की जांच में कुछ कमियां हैं तो ये आरोपितों को बरी करने या उन्हें लाभ पहुंचाने का आधार नहीं हो सकता। इस मामले में 200 गवाहों की गवाही हुई थी जिसमें से 92 अपने बयानों से मुकर गए।

सीबीआइ की ओर से विशेष अदालत के जज एसजे शर्मा के समक्ष अंतिम दलीलें पेश कर रहे विशेष लोक अभियोजक बीपी राजू ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि अभियोजन के कई अहम गवाह अपने बयानों से मुकर गए।

उन्होंने कहा, सुप्रीम कोर्ट ने कई अवसरों पर कहा है कि अदालतों को उन गवाहों की गवाहियों का भी संज्ञान लेना चाहिए जो अपने बयानों से मुकर गए हैं।

साभार- ‘जागरण डॉट कॉम’

Top Stories