विश्व हिन्दू परिषद की बैठक में उठा राम मंदिर निर्माण का मुद्दा!

विश्व हिन्दू परिषद की बैठक में उठा राम मंदिर निर्माण का मुद्दा!

विश्व हिंदू परिषद की केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक का गुरुवार को द्वितीय दिन है. बैठक में शामिल होने के लिए विभिन्न प्रदेशों से संत पहुंचे हैं. साध्वी ऋतंभरा, परमानंद जी महाराज, विहिप अध्यक्ष विष्णु सदाशिव कोकजे, कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार, महामंत्री मिलिंद परांडे सहित स्वामी चिन्मयानंद भी बैठक में मौजूद हैं।

इनके अतिरिक्त कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, विहिप संरक्षक दिनेश चंद्र, विप उपाध्यक्ष चंपत राय बैठक में उपस्थित है. ऐसा बताया जा रहा है कि बैठक के पहले चरण में राम जन्मभूमि राम मंदिर विषय पर चर्चा की जा रही है।

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, विश्व हिंदू परिषद (VHP) के केंद्रीय मार्गदर्शक मंडल की बैठक में संतों ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण करने और कश्मीर से धारा 370 हटाने की मांग उठाई है।

स्वामी विवेकानंद सरस्वती महाराज और स्वामी परमानंद महाराज के नेतृत्व में बैठक में संतों ने लोकसभा चुनावों के नतीजों पर संतोष जाहिर करते हुए कहा कि इस चुनाव में राष्ट्रवाद, हिंदुत्व और विकास के मुद्दों की जीत हुई है तथा परिवारवाद, जातिवाद, तुष्टिकरण और भ्रष्टाचार की सियासत हारी है।

विहिप के अध्यक्ष वी एस कोकजे ने धारा 370 तथा 35 ए के बारे में विस्तृत जानकारी भी दी है। देश भर से आए हुए संतों ने बैठक में यह माना कि पिछली नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा राष्ट्रहित में लिये गये अहम् फैसलों को देश की जनता ने स्वीकृति प्रदान की है।

बैठक के बाद प्रेस वालों से वार्ता करते हुए हरिद्वार के अखंड परमधाम आश्रम के संत परमानंद महाराज ने कहा है कि अपने चुनाव अभियान के दौरान भाजपा ने अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण के रास्ते में आने वाली तमाम बाधाओं को दूर करने का संकल्प लिया था, जिसे अब शीघ्रता से मूर्त रूप देना जरुरी है।

Top Stories