Thursday , December 14 2017

केंद्रीय मंत्री रहे काज़ी रशीद मसूद ने कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा BSP का दामन, कहा- मुसलमानों का भला यही है

सहारनपुर- पूर्व केंद्रीय मंत्री और आठ बार सांसद रह चुके कांग्रेस के कद्दावर नेता रशीद मसूद ने बीएसपी का दामन थाम लिया है। मसूद ने कहा कि मुस्लमानों का भला अब बसपा में ही हैं और भाजपा को रोकने के लिए बसपा ही एकमात्र विकल्प है ।

धर्मनिरपेक्ष हिंदू, मुस्लिम, दलित मिलकर ही बीजेपी की बढ़ती ताकत को रोकने में कामयाब हो सकते हैं। उन्होने कहा, मुसलमान मेयर चुनाव से ही अपनी ताकत का अहसास करा दें और विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी को दिए गए वोटों की तरह इस बार बीएसपी को वोट दें तो मेयर उनका होगा।

बीएसपी कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को संबोधित करते हुए काज़ी रशीद मसूद ने कहाकि सपा को इस बार जितनी सीटें मिली हैं, घर की कलह का यही हाल रहा तो अगले चुनाव में इतनी भी नहीं मिलेंगी। उन्होंने कहा कि मुसलमानों ने विधानसभा चुनाव में सपा को वोट दिया । फिर भी सपा 45 सीटों पर ही सिमट गई। मुसलमानों का भला अब बसपा में ही है। जितना वोट सपा को दिया है उतना ही वोट अगले चुनाव में बसपा को दे दो । बसपा ही भाजपा को रोकने की ताकत रखती है।

कार्यक्रम में बसपा एमएलसी एवं जोन कॉर्डिनेटर सुनील कुमार चित्तौड़ ने काजी रशीद मसूद को उनके समर्थकों के साथ विधिवत रूप से बसपा में शामिल कराया। सुनील कुमार चित्तौड़ ने कहा कि काजी रशीद मसूद हिंदू-मुस्लिम भाईचारे के प्रतीक रहे हैं। जिससे हिंदू और मुस्लिम उनके साथ पार्टी में आएगा। जोन कॉर्डिनेटर शमशुद्दीन राईन ने कहा कि आठ बार सांसद रहे काजी रशीद मसूद के आने से पूरे प्रदेश में बसपा कार्यकर्ताओं में उत्साह है।

TOPPOPULARRECENT