देश में कोरोना वायरस के स्थिति का जायजा लेने के बाद स्कूल- कॉलेजों पर फैसले लेंगे- सरकार

देश में कोरोना वायरस के स्थिति का जायजा लेने के बाद स्कूल- कॉलेजों पर फैसले लेंगे- सरकार

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि सरकार देश में कोरोना वायरस की स्थिति का जायजा लेने के बाद यह निर्णय लेगी कि 14 अप्रैल के बाद स्कूल और कॉलेज खोले जाएंगे यह नहीं।

 

जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, उन्होंने कहा कि छात्रों और अध्यापकों की सुरक्षा हमारी पहली जिम्मेदारी है।

 

रविवार को पीटीआइ को दिए अपने इंटरव्यू में निशंक ने कहा कि हमारे लिए छात्रों और अध्यापकों की सुरक्षा सबसे पहले है इसके साथ ही हम इस बात का भी पूरा ख्याल रखेंगे कि छात्रों की पढ़ाई का नुकसान ना हो।

 

मानव संसाधन विकास मंत्री पोखरियाल ने कहा कि इस समय कोई भी निर्णय लेना बहुत कठिन है 14 अप्रैल को स्थिति को देखते हुए यह फैसला किया जाएगा कि स्कूल और कॉलेज खोले जाने चाहिए या कुछ और समय तक इन्हें बंद रखा जाए।

 

उन्होंने आगे यह भी कहा कि हमारे देश में छात्रों की संख्या 34 करोड़ है जो अमेरिका की जनसंख्या से भी ज्यादा है। छात्र हमारे देश का सबसे बड़ा खजाना है इसलिए छात्रों और अध्यापकों की सुरक्षा सरकार के लिए महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है।

 

बता दें कि देशभर में लागू लॉकडाउन 21 अप्रैल को समाप्त कर दिया जाएगा वहीं ऐसा लग रहा है कि सरकार लॉकडाउन को और आगे नहीं बढ़ाने वाली है। हालांकि स्कूलों और कॉलेजों में लॉकडाउन से पहले ही परीक्षाएं स्थगित करने की घोषणा कर दी गई थी।

 

इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सरकारी विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफॉर्म जैसे स्वयं पर क्लासेज आयोजित करवा रही है। यदि 14 अप्रैल के बाद भी स्कूल और कॉलेज ना खुल सके तो हमने इस बात की पूरी तैयारी की हुई है कि छात्रों की पढ़ाई का नुकसान ना हो।

 

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मैं स्कूलों और कॉलेजों से लॉकडाउन की स्थिति का लगातार जायजा ले रहा हुं। इसके अलावा पेंडिंग परीक्षाओं के आयोजन को लेकर भी पूरी तैयारी की जा चुकी है।

Top Stories