Monday , July 16 2018

पीएम मोदी को रेणुका चौधरी का करारा जवाब, कहा- हंसने पर किसी का परमिशन की जरूरत नहीं

नई दिल्ली: कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी ने संसद में अपने ऊपर हुए ‘रामायण’ कटाक्ष को लेकर पीएम मोदी पर जवाबी हमला करते हुए कहा है कि हंसने पर कोई जीएसटी नहीं लगा है, और हंसने के लिए किसी की अनुमति की जरूरत भी नहीं है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

खबर के मुताबिक, रेणुका चौधरी ने अपने बयान में कहा कि उनके खिलाफ पीएम मोदी द्वारा की गई टिप्पणी महिलाओं के प्रति उनकी मानसिकता को दर्शाती है। उन्होंने कहा, मैं पांच बार की सांसद हूं और प्रधानमंत्री मुझे नकारात्मक पात्र के समानांतर बताते हैं। लेकिन वह भूल जाते हैं कि आज महिलाएं बदल गई हैं। उन्हें मालूम है कि अपने लिए कैसे बोलें। यह महिलाओं के प्रति उनकी मानसिकता दर्शाता है।

सांसद रेणुका ने कहा कि आप हंसे…और हंसी पर कोई जीएसटी नहीं है। पांच बार सासंद बनने के बाद हंसने के लिए मुझे किसी की इजाजत की जरुरत नहीं है। उनहोंने कहा, ‘मेरे पिता ने मुझे लड़का या लड़की के रूप नहीं बल्कि इस देश के नागरिक के रूप में मेरी परवरिश की है।’

वहीँ पूर्व केंद्रीय मंत्री ने भी कहा कि उनकी हंसी पर मोदी की टिप्पणी के बाद उन्हें देशभर से महिलाओं से अपार समर्थन मिला।

उल्लेखनीय है कि पिछले हफ्ते राज्यसभा में पीएम मोदी के भाषण के दौरान आधार कार्ड की बात पर कांग्रेस सांसद रेणुका चौधरी को हंसी आ गई थी। जिसके बाद सभापति के टोकने पर पीएम मोदी ने रेणुका चौधरी पर तंज कसते हुए कहा था कि सभापति जी इन्हें टोकिये मत, रामायण के बाद ऐसी हंसी आज सुनने को मिली है।

TOPPOPULARRECENT