एनकाउंटर में मारा गया आतंकी मन्नान वानी, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से कर रहा था पीएचडी, किया जा चुका था सस्पेंड!

एनकाउंटर में मारा गया आतंकी मन्नान वानी, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से कर रहा था पीएचडी, किया जा चुका था सस्पेंड!
Click for full image

उतर कश्मीर के कुपवाडा जिला के हंदवाडा क्षेत्र में गुरुवार को सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिद्दीन के दो आतंकियों को एनकाउंटर में मौत के घाट उतार दिया जिनमें से एक पी.एच.डी. स्कॉलर से आतंकी बना मन्नान बशीर वानी भी था।

मन्नान वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर रहा था। बताया जाता है कि वानी आतंकी बनने से पहले पढ़ाई में बहुत तेज था। बचपन से पढ़ाई में तेज वानी ने मानसबल के सैनिक स्कूल से अपनी दसवीं और बारहवीं की पढ़ाई पूरी की।

स्कूल-कॉलेजों में कई अवॉर्ड जीत चुके मन्नान वानी उस वक्त भी पढ़ाई में लगा रहा जब साल 2016 में हिजबुल आतंकी बुरहान वानी मारा गया। मन्नान वानी ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से एमफिल की पढ़ाई पूरी की और फिर वहीं से जियोलॉजी में पीएचडी कर रहा था। मन्नान वानी के पिता कॉलेज में लेक्चरर हैं।

मन्नान वानी को ए.आई.एस.ई.सी.टी यूनिवर्सिटी भोपाल ने ‘पानी, वातावरण, उर्जा और समाज’ विषय पर हुई अंतराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में बेस्ट पेपर प्रेजेंटेशन अवॉर्ड दिया गया था।

इस साल जून में वानी ने एक अमेरिकी मानवाधिकार एक्टिविस्ट मेक्लम एक्स की एक बात लिखी थी कि ‘शांतिपूर्वक रहो’ कानून का पालन करो’ सबका सम्मान करो लेकिन अगर कोई तुमपर ऊंगली उठाए तो उसे कब्र में पहुंचा दो।

वानी के एनकाउंटर के बाद पुलिस ने बयान जारी कर कहा कि हमने वानी के साथ वही किया जो बाकी आतंकियों के साथ किया जाता है। हमने उसे सरेंडर करने का पूरा मौका दिया लेकिन अफसोसजनक बात है कि उसने अपनी ही आईडियोलॉजी का पालन नहीं किया।

Top Stories