श्रीनगर की ऐतिहासिक जामा मस्जिद में जुमे की नमाज पर फिर से प्रतिबंध

श्रीनगर की ऐतिहासिक जामा मस्जिद में जुमे की नमाज पर फिर से प्रतिबंध
Click for full image

कश्मीर प्रशासन ने शुक्रवार को श्रीनगर के पाईन शहर में सख्त प्रतिबंध लागू करके नोहटटा में स्थित ऐतिहासिक व केंद्र जामा मस्जिद में जुमा की नमाज अदा करने की अनुमति नहीं दी गई।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

गौरतलब है कि कश्मीरी अलगाववादी नेतृत्व सैयद अली गिलानी, मीरवाइज़ मौलवी उमर फ़ारूक़ और मोहम्मद यासीन मलिक ने कश्मीर घाटी में महिलाओं के बाल काटने में आए दिन चिंताजनक और शर्मनाक वृद्धि के खिलाफ शुक्रवार को नमाज के बाद राज्य स्तर प[र विरोध प्रदर्शन करने की अपील किया था।

उन्होंने गुरुवार को यहां जारी अपने एक संयुक्त बयान में जम्मू-कश्मीर के सभी भागों सहित जम्मू, पूंछ, पीर पनचाल और चिनाब वैली के अलावा पाकिस्तान आयोजित कश्मीर की जनता से भी अपील की थी कि वे उस दिन उनके शर्मनाक रणनीति के खिलाफ अपना शांतिपूर्ण विरोध दर्ज करें। प्रशासन ने विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसक विरोध प्रदर्शन संदेह में पाइन शहर के पांच पुलिस स्टेशनों के तहत आने वालों क्षेत्रों में जुमा की सुबह ही सख्त प्रतिबंध लगा दी।

हुर्रियत कांफ्रेंस (अ) के अध्यक्ष मीरवाइज़ मौलवी उमर फारूक जो हर जुमा को नमाज़ अदा करने पहले ही एतिहासिक जामा मस्जिद में ख़िताब करते हैं उन्हें उनके घर में नज़रबंद कर दिया गया।

Top Stories