RSS के हाथों संस्थान का ज़मीर बेच रहे हैं ज़मीरुद्दीन शाह: अमीक़ जामेई

RSS के हाथों संस्थान का ज़मीर बेच रहे हैं ज़मीरुद्दीन शाह: अमीक़ जामेई
Click for full image

नई दिल्ली: अलीगढ़ समुदाय मर चुकी है, कोई गुस्सा नहीं, जहाँ के स्टूडेंट संघ नेताओं से प्रधानमंत्री सीधे फोन पर उपलब्ध होते थे, अब उनके आवाज चांसलर ज़मीरउदीन शाह आरएसएस के हाथों संस्थान का ज़मीर बेच रहे हैं। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के इफ्तार कार्यक्रम में जाने की क्या मजबूरी थी?

उनका सलाहकार कौन है? इस समारोह में मालेगांव मक्का मस्जिद और समझौता एक्सप्रेस के एक आरोपी की अध्यक्षता में हो रही थी? यह सवाल उठाया है सामाजिक कार्यकर्ता युवा नेता अमीक़ जामेई ने, जामेई ने आरएसएस के संगठन मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की इफ्तार में कुलपति की भागीदारी पर अपने फेसबुक पेज पर कड़ा विरोध दर्ज कराया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

जामेई ने याद दिलाते हुए कहा है कि उन्हें जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों से सीखना चाहिए, यहां के  छात्रों ने प्रधानमंत्री से कहा जामिया को “आतंकवाद का अड्डा” कहने वाले अपने बयान पर पहले माफी मांगे  और फिर पधारे।

 

Top Stories