RSS को हथियारों और शारीरिक प्रशिक्षण के लिए मंदिरों का इस्तेमाल नहीं करने देगी केरल सरकार

RSS को हथियारों और शारीरिक प्रशिक्षण के लिए मंदिरों का इस्तेमाल नहीं करने देगी केरल सरकार

केरल सरकार ने आरएसएस पर अपनी कमान कसते हुए राज्य के मंदिरों में गैर-आध्यात्मिक गतिविधियों पर रोक लगाने जा रही है जिसका आरएसएस द्वारा जमकर विरोध किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक़ राज्य के मंदिरों की देखरेख करने वाले देवास्वोम विभाग के तैयार मसौदे के मुताबिक़ मंदिर परिसरों में आरएसएस की शाखाओं पर रोक लग जाएगी। देवास्वोम बोर्ड के अध्यक्ष प्रयार गोपालकृष्णन का कहना है कि आरएसएस के स्वयंसेवक मंदिरो में पूजा-प्रार्थना कर सकते हैं लेकिन हम उन्हें हथियारों के प्रशिक्षण की इजाजत नहीं देंगे।

Facebook पर हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करें

वहीँ देवास्वोम मंत्री कडकम्पल्ली सुरेंद्रन ने कहा है कि हम आरएसएस को हथियारों और शारीरिक प्रशिक्षण के लिए मंदिरों का इस्तेमाल नहीं करने दे सकते क्योंकि ऐसा करना श्रद्धालुओं के साथ अन्याय है। कुछ मंदिरों में ऐसी गैर-कानूनी गतिविधियां हो रही हैं और शाखा की आड़ में आरएसएस मंदिरों को हथियार छिपाने और प्रशिक्षण देने की जगह के तौर पर इस्तेमाल कर रही है। लेकिन अब ऐसा मुमकिन नहीं हो पायेगा क्योंकि प्रस्तावित कानून के अनुसार अगर किसी व्यक्ति के निजी परिसर में आरएसएस की शाखा लगायी जानी है तो उसकी सूचना पहले पुलिस को देनी होगी।

Top Stories