एग्जिट पोल को बीजेपी के सीनियर नेता और RSS ने नकारा, बताया हक़ीक़त!

एग्जिट पोल को बीजेपी के सीनियर नेता और RSS ने नकारा, बताया हक़ीक़त!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह दोनों केंद्र में भाजपानीत एनडीए सरकार बनाने का आत्मविश्वास दिखा रहे हैं। यह आत्मविश्वास एक्जिट पोल के नतीजों ने दिया है।

केंद्र सरकार के तमाम मंत्री भी टीवी स्क्रीन पर इस आत्मविश्वास को चार चांद लगा रहे हैं, लेकिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, डॉ. मुरली मनोहर जोशी और लाल कृष्ण आडवाणी के कुछ करीबियों तथा कई राज्यों में पार्टी के लिए घूम कर प्रचार करने वाले नेताओं को इस पर भरोसा नहीं हो रहा है।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, मेरठ के एक बड़े भाजपा नेता को भी लग रहा है कि 23 मई को नतीजे आने पर भाजपा की सीटें घटेंगी। 23 मई के नतीजों को लेकर कई भाजपा नेताओं की बेचैनी बढ़ी है। आखिर क्यों?

कई मंत्रालय के सचिव स्तर के अफसर तक चुनाव आयोग की मतगणना शुरू होने से पहले सच्चाई को सूंघने में लगे हैं। हालांकि पत्र सूचना कार्यालय ने नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह की कवरेज के लिए नतीजा आने से पहले ही अपनी तैयारी शुरू कर दी है। राष्ट्रपति भवन के एक वरिष्ठ अधिकारी की माने तो वहां भी नई सरकार को शपथ दिलाने के लिए तैयारी चल रही है।

इसके साथ-साथ केंद्र सरकार के वरिष्ठ आधिकारियों की नई सरकार को लेकर काफी उत्सुकता बढ़ गई है। मंत्रालय के सचिव ने चुनाव में ड्यूटी पर तैनात आईआईएस कॉडर के कुछ अफसरों को बुलाकर उनसे राज्यवार ब्यौरा तक मांगा।

एक राज्यमंत्री के कार्यालय के उपसचिव की परेशानी भी देखते बन रही है। कानून मंत्रालय के एक एडिशनल सेक्रेटरी को साफ लग रहा है कि एक्जिट पोल ने सीटों की संख्या बहुत अधिक दिखाई है। गृहमंत्रालय के एक निदेशक स्तर के अधिकारी के मुताबिक 23 मई को आने वाले नतीजे में उलट-फेर मिल सकता है।

भाजपा के एक नेता का कहना है कि उन्होंने तमाम केंद्रीय नेताओं से मंत्रणा की है। वह संघ के कुछ नेताओं से मिले हैं। सूत्र का मानना है कि एनडीए समेत भाजपा अधिकतम दिल्ली में पांच, गुजरात में 21, मध्य प्रदेश (म.प्र.) में 18, छत्तीसगढ़ में चार, राजस्थान में 19, उत्तर प्रदेश (उ.प्र.) 38, बिहार में 28, झारखंड में पांच, पश्चिम बंगाल में 11, उड़ीसा में आठ, कर्नाटक में 16, हिमाचल प्रदेश में चार, उत्तराखंड में चार, हरियाणा में छह, पंजाब में चार, महाराष्ट्र में 31, असम सहित पूर्वोत्तर में 17, तमिलनाडु में चार, गोवा में दो, जम्मू-कश्मीर में दो और चंडीगढ़ की एक सीट जीतेगी। इस तरह से एनडीए को करीब 248 सीटें मिलने का अनुमान है।

दिनभर में भाजपा के कई नेताओं से ऑफ दि रिकार्ड चर्चा हुई। लगभग सभी का मानना है कि एक्जिट पोल में सीटें काफी बढ़ाकर दिखाई जा रही हैं। अधिकांश में इसके बाबत परेशानी के भाव दिखे। यह छटपटाहट विपक्ष के नेताओं से काफी अलग दिखाई दी।

Top Stories