Monday , December 18 2017

बाल तस्करी में रुपा गांगुली का नाम आने से बंगाल बीजेपी में खलबली

कोलकाता। शिशु तस्करी मामले में आरोपी चंदना चक्रवर्ती के बयान से बंगाल की राजनीति में हड़कंप का माहौल है। मंगलवार को मामले की मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने शिशु तस्करी की घटना में भाजपा सांसद रूपा गांगुली व भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का नाम लिया।

इन आरोपों को निराधार बताते हुए भाजपा सांसद रूपा गांगुली ने कहा कि वह पागल है, कुछ भी बोल रही है। साथ ही उन्होंने सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस पर मामले में फंसाने का आरोप लगाया।

गौरतलब है कि जलपाईगुड़ी स्थित होम से शिशु तस्करी मामले में गिरफ्तार चंदना चक्रवर्ती ने मंगलवार को दावा किया कि शिशु तस्करी मामले की एक और आरोपी जूही चौधरी उसे साथ लेकर दिल्ली गयी थी और जूही चौधरी ने इस संबंध में भाजपा सांसद रूपा गांगुली व भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ बैठक की थी।

हालांकि, चंदना चक्रवर्ती ने यह स्वीकार किया कि वह बैठक में मौजूद नहीं थी। जूही चौधरी अकेले रूपा गांगुली व कैलाश विजयवर्गीय के साथ बैठक करने गयी थी। इसलिए बैठक किस बात को लेकर हुई थी और वहां क्या-क्या बात हुई, इसके बारे में उन्हें पूरी जानकारी नहीं है।

इस संबंध में मंगलवार को प्रतिक्रिया देते हुए सांसद रूपा गांगुली ने कहा कि चंदना चक्रवर्ती पहले यह तय कर लें कि वह कहना क्या चाहती हैं। उनको क्या बोलना है और क्या नहीं। पहले यह याद कर लें क्योंकि उसके बयान में विसंगतियां हैं।

रूपा गांगुली ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है और साजिश के तहत चंदना चक्रवर्ती को यह बयान देने को कहा गया है। मंगलवार को सीआइडी ने शिशु तस्करी मामले में चंदना चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया और उसे लेकर सीआइडी की टीम जब पूछताछ के लिए ले जा रही थी, उसी समय चंदना चक्रवर्ती ने यह आरोप सांसद रूपा गांगुली व भाजपा के वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय पर लगाये।

उस समय चंदना ने दावा करते हुए कहा कि शिशु तस्करी मामले में वे और पहले से गिरफ्तार दो आरोपी मानस व सोनाली निर्दोष हैं। उन लोगों को बदनाम किया गया है। इस मामले में जूही चौधरी मुख्य आरोपी हैं, उनको मोहरा बनाया जा रहा है।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने शिशु तस्करी मामले में मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि यह एक राजनीतिक षडयंत्र है। सत्तारूढ़ पार्टी भाजपा नेताओं को फंसाने की साजिश रच रही है। सीआईडी का दुरुपयोग करते हुए बिना किसी आधार के भाजपा नेताओं पर आरोप लगाये जा रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT