Friday , April 27 2018

रूस द्वारा ब्रिटेन के महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे पर साइबर हमला ! : FBI की रिपोर्ट

जीसीएचक्यू (तस्वीर में) और एफबीआई ने एक रिपोर्ट में चेतावनी दी है कि सीरिया के हवाई हमलों के प्रति जवाबी कार्रवाई में रूस ब्रिटेन के ऊर्जा नेटवर्क, सशस्त्र बलों और आपात सेवाओं पर साइबर हमले की तैयारी कर रहा है ।

लंदन : वरिष्ठ सुरक्षा विशेषज्ञों ने बताया कि ब्रिटेन के ‘महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे’ पर साइबर हमले की तैयारी में ब्रिटेन के घरों में लाखों लैपटॉप और फोन को टार्गेट किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एक बार पहुंच प्राप्त हो गई है, मॉस्को समर्थित एजेंट जब तक हमला करने का निर्णय नहीं लेते तबतक वो इसे अनदेखा कर सकते हैं। रिपोर्ट है कि रूस ब्रिटेन के ऊर्जा नेटवर्क, सशस्त्र बलों और आपातकालीन सेवाओं पर साइबर हमला करने की तैयारी कर रहा है, जीसीएचक्यू और एफबीआई ने चेतावनी दी है कि सीरिया के हवाई हमलों के प्रति जवाबी कार्रवाई में रूस ऐसा कर रहा है। ब्रिटेन और अमेरिकी अधिकारियों ने एक संयुक्त बयान में खुलासा किया है कि सरकार साइबर-रक्षा की जांच कर रही है, जो कि कमजोरियों की पहचान करने के लिए संभवतः भविष्य के आक्रामक अभियानों के लिए नींव रख रही है।

नेशनल साइबर सिक्योरिटी सेंटर के सीईओ सिआरन मार्टिन ने कहा ‘वे करीब से कनेक्टिविटी पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं, इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को लक्षित करने लिए ताकि ग्राहकों तक पहुंच हासिल किया जा सके। व्हाइट हाउस के साइबर सुरक्षा समन्वयक रॉब जॉइस ने कहा ‘जब आप राउटर के मालिक होते हैं, तो आप सभी ट्रैफ़िक के मालिक हैं, जिसमें प्रमाण पत्र और पासवर्ड जेनरेट करने की क्षमता शामिल है और अनिवार्य रूप से सभी ट्रैफ़िक की निगरानी की जाती है।

‘लेकिन यह विरोधी के हाथों के लिए जबरदस्त हथियार है।’ जबकि मार्टिन ने कहा कि यूके का सबसे ज्यादा लक्ष्यीकरण सरकारी निकायों और महत्वपूर्ण राष्ट्रीय बुनियादी ढांचे के उद्देश्य से किया गया था, अमेरिकी अधिकारियों ने कहा कि ‘बड़े उद्यमों से छोटे घर के कार्यालयों में’ सब कुछ प्रभावित हो सकता है। मिस्टर जॉइस ने कहा ‘जब हम दुर्भावनापूर्ण साइबर गतिविधि देखते हैं, चाहे वह क्रेमलिन या अन्य राष्ट्र के राज्य अभिनेताओं से हो, हम वापस पूश करने जा रहे हैं।’ एफबीआई के उप सहायक डायरेक्टर हॉवर्ड मार्शल ने कहा ‘यह गतिविधि नेटवर्क से ऐसी जानकारी को चोरी नहीं करती है जो इन अभियानों में लक्षित होती है, लेकिन कभी-कभी अन्य परिचालनों को सुविधाजनक बनाने के लिए इस्तेमाल होता है जो कि रूस दुनिया भर में उच्च मूल्य वाले लक्ष्यों के खिलाफ कर सकते हैं।

एफबीआई के उप सहायक डायरेक्टर हॉवर्ड मार्शल ने कहा ‘हम रूस कि साइबर हमले कि संभावना से इनकार नहीं कर सकते हैं’ तस्वीर : एफबीआई मुख्यालय
उन्होंने आगे कहा ‘हम इस संभावना से इनकार नहीं कर सकते हैं कि रूस भविष्य के आक्रामक साइबर परिचालनों के लिए समझौते के इस सेट का उपयोग करने का इरादा रख सकता है। ‘यह आधारभूत संरचना प्रदान करता है जो वे शुरू कर सकते हैं।’ यूएस डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी (डीएचएस), फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) और ब्रिटेन के नेशनल साइबर सिक्योरिटी सेंटर (एनसीएससी) ने एक संयुक्त बयान जारी किया, जिसमें कहा गया है कि क्रेमलिन की संभावित कार्रवाई से सुरक्षा और आर्थिक कल्याण पर बुरा असर पड़ सकता है। अधिकारियों ने सरकारी निकायों और बड़ी कंपनियों से ‘महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा प्रदाताओं’ के लिए एक चेतावनी जारी की है जो रूस से किसी भी संभावित हमले से जोखिम का प्रबंधन करने की सलाह देते हैं।

मिस्टर मार्टिन ने कहा ‘साइबरस्पेस में रूस हमारा सबसे सक्षम शत्रु विरोधी है इसलिए उनके हमलों से निपटना राष्ट्रीय साइबर सिक्योरिटी सेंटर और हमारे अमेरिकी सहयोगियों के लिए एक प्रमुख प्राथमिकता है। ‘यह पहली बार है कि यू.एस. और यूके ने साइबर हमले के लिए रूस को जिम्मेदार ठहराया है, साथ ही साथ उद्योगों के लिए संयुक्त सलाह जारी की है कि हमलों से जोखिम का प्रबंधन कैसे किया जाय। ‘यह साइबरस्पेस में राज्य प्रायोजित आक्रामकता के खिलाफ हमारी लड़ाई में एक महत्वपूर्ण कदम है। ‘बीस वर्षों से, जीसीएचक्यू प्रमुख रूसी साइबर हमले समूहों पर नज़र रखता रहा है और आज के संयुक्त ब्रिटेन-अमेरिकी चेतावनी से पता चलता है कि खतरे दूर नहीं हैं।

‘यूके सरकार रूस के अस्वीकार्य साइबर व्यवहार को बेनकाब करने के लिए अमेरिका, अन्य अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों और उद्योग भागीदारों के साथ काम करना जारी रखेगी, इसलिए उन्हें अपने कार्यों के लिए जवाबदेह रखा जाता है। ‘रूस द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली कई तकनीकों ने नेटवर्क सिस्टम में बुनियादी कमजोरियों का फायदा उठाया है। एनसीएससी वैश्विक स्तर पर सलाह देने और उन मूलभूत हमलों को दूर करने के लिए पैमाने पर सुरक्षा को स्वचालित करने के लिए अग्रणी है, जिससे हमें सबसे अधिक खतरों पर ध्यान केंद्रित करने की अनुमति मिलती है। ‘

फिर भी अधिकारियों ने कहा कि इस कदम को ‘कुछ समय’ के लिए तैयार किया गया था और रूस के सहयोगी सीरिया पर सप्ताहांत में अमेरिका के नेतृत्व वाले मिसाइलों पर सीधे हमले करने से संबंधित नहीं थे। यह रिपोर्टों के बीच आता है कि जीईसीएचक्यू और रक्षा मंत्रालय के खुफिया अधिकारियों ने क्रांतिकारी मजदूरी साइबर युद्ध के कारण वापस आना बंद कर दिया है। विदेश सचिव बोरिस जॉन्सन ने पहले इस धमकी को स्वीकार किया था कि ब्रिटेन को ‘हर संभव एहतियात’ लेना चाहिए था।

TOPPOPULARRECENT