चन्द्रशेखर उर्फ रावण की रिहाई और दलितों की हत्या के विरोध में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी

चन्द्रशेखर उर्फ रावण की रिहाई और दलितों की हत्या के विरोध में भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी

सहारनपुर। जिले में भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर की रिहाई और दलितों की हत्या के विरोध में भारत एकता मिशन की ओर से कलेक्ट्रेट में भीम आर्मी कार्यकर्ताओं ने गिरफ्तारी दी। रासुका में निरुद्ध किए गए सहारनपुर हिंसा के आरोपी चंद्रशेखर उर्फ रावण को जेल से रिहा करने की मांग को लेकर भीम आर्मी ने एक बार फिर से ताकत दिखाई और कलक्ट्रेट पर भारी संख्या में पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया।

कार्यकर्ताओं ने शब्बीरपुर के प्रधान शिवकुमार एवं सोनू को भी रिहा कराए जाने की मांग की। लगभग ढाई सौ पुरुष एवं महिला कार्यकर्ताओं ने कलक्ट्रेट में ही गिरफ्तारी दी जिन्हें मौके पर ही रिहा कर दिया गया। वक्ताओं ने कहा कि भीम आर्मी के पदाधिकारियों पर झूठे मुकदमे किए गए और रासुका लगाकर उनका उत्पीड़न किया गया जबकि शब्बीरपुर के 56 घरों में आग लगाने वालों पर धीमी गति से कार्रवाई की जा रही है। भाजपा का दलितों के साथ दोगलापन किया जा रहा है।

जब तक चंद्रशेखर, शिवकुमार और सोनू को रिहा नहीं किया जाता, तब तक भीम आर्मी का आंदोलन चलता रहेगा। जिलाध्यक्ष कमल सिंह वालिया ने कहा कि भीम आर्मी दलितों पर जुल्म बर्दाश्त नहीं करेगी। सरकार को फर्जी एनकाउंटर का जवाब देना होगा। राष्ट्रीय प्रवक्ता मंजीत सिंह नौटियाल ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारें दलितों पर जुल्म कर रहीं हैं, उन्हें आवंटित पट्टे छीन लिए हैं।

सहारनपुर की जातीय हिंसा के आरोप में जेल में बंद भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर की रिहाई की मांग और बार बार बढाई जा रही उसकी रासुका के विरोध मे भीम आर्मी ने जेल भरो आन्दोलन की घोषणा की थी जिसके तहत पूरे सहारनपुर जिले में पुलिस बल तैनात किया गया था।

Top Stories