Friday , April 27 2018

चंदन को ‘भगवा’ ने मारा, पोस्ट लिखने वाली महिला अफसर पर एक्शन, हटानी पड़ी पोस्ट

कासगंज हिंसा को लेकर सोशल साइट्स पर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा। सहारनपुर की डिप्टी डायरेक्टर सांख्यिकी रश्मि वरुण ने फेसबुक पर एक और पोस्ट करके इस मामले में नई बहस खड़ी कर दी थी ।  अब पोस्ट लिखने वाली सहारनपुर की महिला अफसर रश्मि वरुण से जब स्पष्टीकरण मांगा गया तब उन्होंने शनिवार को पोस्ट हटा दी। दरअसल,  उन्होंने कासगंज हिंसा की तुलना सहारनपुर के मामले से करते हुए सोशल मीडिया पर अपने मन की बात लिखी है। डिप्टी डायरेक्टर रश्मि वरुण ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा- यह थी कासगंज की तिरंगा रैली। यह कोई नई बात नहीं है। अम्बेडकर जयंती पर सहारनपुर के सड़क दूधली में भी ऐसी ही रैली निकाली गई थी। उसमें से अम्बेडकर गायब थे या कहिए कि भगवा रंग में विलीन हो गये थे।  भी यह ही हुआ। तिरंगा गायब और भगवा शीर्ष पर। जो लड़का मारा गया, उसे किसी दूसरे तीसरे समुदाय ने नहीं मारा। उसे केसरी, सफेद और हरे रंग की आड़ लेकर भगवा ने खुद मारा।

पोस्ट में आगे लिखा था जो नहीं बताया जा रहा वह यह है कि अब्दुल हमीद की मूर्ति पर तिरंगा फहराने की बजाये रैली में चलने की जबरदस्ती की गई। केसरिया, सफेद, हरे और भगवा रंग पे लाल रंग भारी पड़ गया। डिप्टी डायरेक्टर की पोस्ट की चर्चा बड़े अफसरों में जोरशोर से हो रही है।

कासगंज मामले में किया गया यह पोस्ट काफी वायरल हुआ, बहुत से लोगों ने इसकी आलोचना भी की, जिसके बाद डिप्टी डायरेक्टर ने इसे हटा दिया और कहा कि भगवा शब्द का इस्तेमाल करना सही नहीं था। संडे एक्सप्रेस से बात करते हुए रश्मि ने कहा कि भगवा शब्द का इस्तेमाल करना गलत था, लेकिन उनसे यह गलती अनजाने में हुई थी। इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘मैं यह समझाना चाहती हूं कि जब भीड़ में फायरिंग हो रही थी, उस वक्त किसी की भी बंदूक से निकली हुई गोली चंदन गुप्ता को मार सकती थी।’ इसके अलावा रश्मि ने बताया कि यह पोस्ट 5-6 दिन पहले लिखा गया था। उन्होंने कहा, ‘मेरा उद्देश्य किसी को दुख पहुंचाने का नहीं था। मैंने भगवा शब्द का इस्तेमाल गलती से किया था, बिना किसी इरादे के और मैं इसके लिए माफी भी मांगती हूं।’

दरअसल फेसबुक पोस्ट वायरल होने के बाद सहारनपुर जिला मजिस्ट्रेट पीके पांडेय ने इस मामले में रश्मि से स्पष्टीकरण मांगा था, जिसके बाद उन्होंने इसे सोशल मीडिया से हटा दिया। पांडेय ने कहा कि चूंकि रश्मि डिप्टी डायरेक्टर (सांख्यिकी) के तौर पर सहारनपुर कमिश्नर के तहत काम करती हैं, इसलिए उन्होंने इस पर सफाई मांगी, क्योंकि वर्तमान में वह ही कमिश्नर हैं।

TOPPOPULARRECENT