Tuesday , December 12 2017

सकीना की मौत को भुखमरी के बजाय बीमारी करार देने की हो रही है कोशिश

बरेली: भुखमरी से मुस्लिम महिला की मौत की ख़बरें आम होने के बाद अधिकारी अब इस मामले को अलग रुख दे रहे हैं। संबंधित लोगों को बचाने की कोशिश हो रही है और साथ ही यह दावा किया जा रहा है कि सकीना की मौत भुखमरी से नहीं बल्कि बीमारी से हुई है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

हालाँकि सकीना ने पड़ोसी नजाकत, कुल्लो, नन्हें और शराफत ने सकीना की बीमारी से मौत के दावे को बिलकुल ख़ारिज कर दिया है। उन पड़ोसियों ने कहा कि सकीना को कोटे से जो राशन मिलता था उससे ही उनका गुजर बसर हो रहा था, लेकिन सकीना के बीमार होने की वजह से वह दूकान पर नहीं पहुंच सकी, इसलिए उन्हें राशन नहीं मिला। कई दिनों से घर में चूल्हा नहीं जला था। मंगल को सकीना भूख की वजह से चक्कर खाकर गिर गई और उनकी मौत हो गई।

हम सभी के सहयोग से सकीना की कफन दफन का इन्तेजाम हो पाया। दूसरी ओर इस मामले पर डीएम रघुवेंद्र सिंह ने मामले की जाँच की हिदयात दी और बुध की सुबह एसडीएम, जिला सप्लाई ऑफिसर, सप्लाई इंस्पेक्टर और अन्य अधिकारी सकीना के घर पहुंचे और सकीना के पति और आस पास के लोगों से पूछताछ की। सभी ने बयान लेकर जांच रिपोर्ट डीएम को भेजी जिसमें लिखा है कि मौत की वजह बीमारी बताया जबकि पूछताछ के दौरान उनके पति ने साफ़ कहा था कि उनके घर दो वक्त की रोटी के लिए राशन नहीं बचा था जो मौत की वजह बनी, लेकिन एसडीएम समेत अन्य अधिकारी भी इसके मौत की वजह बीमारी बता रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT