Wednesday , January 17 2018

12 साल बाद सरोजनी नगर ब्लास्ट केस से दो मुस्लिम युवक बाइज़्ज़त रिहा

नई दिल्ली  आज पटियाला हाउस कोर्ट ने २००५ मे सरोजनी नगर ब्लास्ट मे अहम् फैसला सुनाते हुवे दो लोगों को बाइज्जत बरी कर दिया वहीँ एक आरोपी को दोषी करार दिया है

धमाकों में  तारिक अहमद डार, मोहम्मद हुसैन फाजिल और मोहम्मद रफीक शाह पर मिलकर साजिश रचने का आरोप था। पुलिस ने तारिक अहमद ड़ार को मुख्य आरोपी मास्टरमाइंड बताया था , कोर्ट के इस फैसले के बाद पिछले 10 सालों से जेल में बंद अहमद डार भी रिहा हो जाएगा। क्योंकि वो पहले ही जेल में 10 साल की सजा  काट चुका है।

साल 2005 में दिल्ली के कई जगहों पर हुए इन सिलसिलेवार धमाकों में 62 लोगों की जान चली गई और करीब 100 लोग घायल हुए थे।

 

TOPPOPULARRECENT