Thursday , December 14 2017

सरताज अज़ीज़: कुलभूषण जाधव बेकसूर है तो हिंदू और मुसलमान नाम से अलग-अलग पासपोर्ट क्यों रखा?

कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान ने नया पैंतरा चला है, इसी कड़ी में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज का बयान आया है । उन्होंने कहा कि अगर कुलभूषण जाधव बेकसूर है तो वो हिन्दू और मुसलमान बनकर अलग अलग नाम से दो पासपोर्ट क्यों रखे हुए था।

पाकिस्तान ने दावा किया है कि कुलभूषण जाधव के पास से दो पासपोर्ट बरामद हुए हैं। सरताज अजीज ने कहा कि भारत सरकार ये नहीं बता पाई है कि उनका नेवी कमांडर पाकिस्तान में क्या कर रहा था। सरताज अजीज ने ये भी कहा कि कुलभूषण जाधव पाकिस्तानी सैन्य अदालत के फैसले के खिलाफ 40 दिनों के अंदर अपील कर सकता है। कुछ ही दिन पहले सरताज अजीज ने ही कहा कि पाकिस्तान के पास कुलभूषण जाधव के खिलाफ मुकदमा चलाने के लिए जरूरी सबूत मौजूद नहीं है।

इस बीच भारत ने रिटायर्ड नेवी ऑफिसर कुलभूषण जाधव की पाकिस्तान से सुरक्षित वापसी के लिए कोशिशें तेज कर दी है। शुक्रवार को पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त गौतम बंबावाले ने पाकिस्तान की विदेश सचिव तहमीना जंजुआ से मुलाकात की और भारत की ओर से तीन मांग पाकिस्तान के सामने रखी।

भारत ने पाकिस्तान सरकार से कुलभूषण जाधव के खिलाफ लगाये गये चार्जशीट की कापी मांग की है। ताकि भारत कुलभूषण के आरोपों को पढ़ सके और उसी के बुनियाद पर इस सजा के खिलाफ अपील कर सके।

भारत के उच्चायुक्त गौतम बंबावाले ने पाकिस्तान की विदेश सचिव तहमीना जंजुआ से पाकिस्तान के सैन्य अदालत के फैसले की कॉपी भी मांगी है।

भारत सरकार ने पाकिस्तान स्थित अपने उच्चायोग के अधिकारियों के जरिये कुलभूषण जाधव से मिलने की मांग की है, ताकि भारत सरकार कुलभूषण जाधव का हाल चाल जान सके। लेकिन भारत सरकार के इस मांग के जवाब में पाकिस्तान की विदेश सचिव तहमीना जंजुआ ने कहा कि चूंकि ये मामला जासूसी का है इसलिए भारत की ये मांग पूरी नहीं की जा सकती है।

लेकिन भारत सरकार का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय कानून के मुताबिक भारतीय पक्ष को कुलभूषण जाधव से मिलने की इजाजत मिलनी चाहिए। भारत सरकार 14 बार पाकिस्तान से कुलभूषण यादव से मिलाने की मांग कर चुका है।

TOPPOPULARRECENT